रिपोर्ट : ईलाज के लिए विदेशियों की पहली पसंद बना भारत

0

नई दिल्ली। एक रिपोर्ट में सामने आया है कि इलाज के लिए भारत विदेशियों की पहली पसंद बना है। गृह मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, वर्ष 2016 में 1,678 पाकिस्तानियों और 296 अमरीकियों समेत 2 लाख से अधिक विदेशियों ने भारत आकर स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ उठाया। रिपोर्ट के मुताबिक, 2014 में केंद्र सरकार ने अपनी वीजा पॉलिसी को आसान बनाया। जिससे लोगों को आसानी से वीजा दिया जा सके।

इलाज के लिए भारत

अगर गृह मंत्रालय के आंकड़ों की माने तो 2,01,099 नागरिकों को 2016 में दुनिया भर के 54 देशों के चिकित्सा वीजा जारी किए गए। एक सर्वेक्षण में बताया गया है कि भारत के प्रमुख चिकित्सा स्थल के रूप में उभरने का प्राथमिक कारण विकसित देशों की तुलना में यहां काफी कम कीमत पर उचित चिकित्सा सुविधा उपलब्ध होना है।

पिछले दिनों बिजनेस चेंबर के सर्वे में सामने आया कि भारत में विकसित देशों के मुकाबले इलाज सस्ता और बेहतर है। इसीलिए इलाज के लिए भारत आने वाले लोगों की संख्या बढ़ी है। फिलहाल, भारत में मेडिकल टूरिज्म 19 हजार 266 करोड़ रुपए होने का अनुमान है। जो आने वाले 2-3 साल में करीब 3 गुना तक बढ़ सकता है।

खबर के अनुसार – 1,678 पाकिस्तानियों, 296 अमरीकियों, ब्रिटेन के 370 नागरिकों, रूस के 96 नागरिकों और 75 ऑस्ट्रेलियाई नागरिकों को भी चिकित्सा वीजा जारी किए गए है। जिससे साफ जाहिर होता है कि भारत को विदेशी लोग चिकित्सा के क्षेत्र में कितना पसंद कर रहे हैं।

loading...
शेयर करें