रिसर्च: उल्कापिंडों की वजह से पृथ्वी पर है जीवन

0

कैम्ब्रिज: पृथ्वी पर ही जीवन संभव है। इसका सबसे बड़ा कारण पानी है लेकिन पृथ्वी पर पानी कब से है ? इस बात को लेकर वैज्ञानिकों ने एक नया खुलासा किया है। वैज्ञानिकों का मानना है कि अनुमानतः सौरमंडल की उत्पत्ति से कभीर 20 लाख साल पहले उल्कापिंड पृथ्वी पर लेकर आए थे। यह बात मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (एमआईटी) के शोधकर्ताओं ने अपने अध्ययन में उजागर की है।

अपने इस अध्ययन में वैज्ञानिकों ने बताया है कि सौरमंडल की उत्पत्ति के लगभग 20 लाख वर्षों में पृथ्वी पर पानी उल्कापिंड लेकर आए होंगे। क्योंकि पानी और कार्बन जैसे तत्व पृथ्वी पर जीवन के लिए जरूरी अवयव हैं। इस अध्ययन से शोधकर्ताओं ने यह जानने का प्रयास किया कि वे हमारी पृथ्वी पर कब आए।

कैम्ब्रिज में स्थित प्राइवेट रिसर्च युनिवर्सिटी एमआईटी के शोध छात्र एडम साराफिया ने कहा कि हम जितना संभव हो उतने उल्कापिंडों के मूल स्वरूप की जांच की जा रही है, ताकि यह पता लगाया जा सके कि वे शुरुआती सौरमंडल में कहां थे और उनके पास कितना पानी था।

शोधकर्ताओं ने पाया कि मूल उल्कापिंडों में संभवत: पृथ्वी के मौजूदा जल भंडार का 20 प्रतिशत हिस्सा था। साराफिया ने कहा कि यह मानना आसान है कि पृथ्वी के पूरी तरह बनने से पहले से ही पानी बहुत शुरुआत में ही जमा होना शुरू हो गया। इसका मतलब है कि जब पृथ्वी काफी ठंडी हो तब उसकी सतह पर पानी स्थिर रह गया।

loading...
शेयर करें