रिसर्च : नए साल में इस तरह के संकल्प लेते हैं लोग

0

नई दिल्ली। साल 2017 को पीछे छोड़ हम 2018 में प्रवेश कर चुके हैं। आज नए साल का दूसरा दिन है लेकिन अभी तक लोग न्यू ईयर का जश्न मना रहे हैं। वहीं, नया साल जब आता है तो लोग कई तरह के संकल्प लेते हैं। लेकिन एक रिसर्च में सामने आया है कि आधे-अधूरे मन से सिर्फ रस्म अदायगी के लिए लिए गए रेजोल्यूशंस कभी पूरे नहीं होते।

हर वर्ष 41 फीसदी लोग नए वर्ष पर संकल्प लेते हैं

एक वेबसाइट द्वारा करवाए गए एक रिसर्च में कहा गया है‍ कि अमेरिका में हर वर्ष 41 फीसदी लोग नए वर्ष पर संकल्प लेते हैं, जबकि 42 फीसदी लोगों ने कभी भी नए वर्ष पर कोई भी संकल्प नहीं लिया। सिर्फ 9.2 फीसदी लोग अपने संकल्प को पूरा करने में सफल होते हैं और प्रत्येक वर्ष 42.4 फीसदी लोग इसे पूरा करने में असफल रहते हैं।

लिए गए संकल्प को पूरी तरह से निभाते नहीं हैं

इससे ये बात साफ हो जाती है कि लोग बस मन रखने के लिए रेजोल्यूशंस लेते हैं, लेकिन उसे पूरी तरह से निभाते नहीं हैं। रिसर्च के अनुसार 12.3 फीसदी जीवन में सुधार, 8.5 फीसदी बेहतर वित्तीय निर्णय लेना, 7.1 फीसदी धूम्रपान छोड़ने, 6.2 फीसदी परिवार के साथ अधिक समय व्यतीत करने, 5.5 प्रतिशत एक्सरसाइज करने, 5.2 फीसदी दूसरों के लिए अच्छा काम करने, 4.3 फीसदी अपनी जिंदगी से प्यार करने और 4.1 फीसदी नई नौकरी तलाशने का संकल्प लोगों ने लिया।

रेजोल्यूशन हम सभी अपनी किसी खामी को दूर करने के लिए लेते हैं

माना जाता है नए साल का रेजोल्यूशन हम सभी अपनी किसी खामी को दूर करने के लिए लेते हैं। ऐसे ही रेजोल्यूशन्स की लंबी फेहरिस्त है। ऐसे में आपको खुद ही तय करना होगा कि आप अपनी कौन सी खामी को दूरकर एक बेहतर इंसान बनना चाहते हैं।

loading...
शेयर करें