अलगाववादियों के विरोध मार्च के मद्देनजर प्रतिबंध, गिलानी और उमर फारुख को किया गया नजरबंद

0

श्रीनगर। प्रशासन ने शोपियां तक अलगाववादियों द्वारा आहूत विरोध मार्च के मद्देनजर बुधवार को श्रीनगर के कई हिस्सों में प्रतिबंध लगा दिया है। सैयद शाह अली गिलानी, मीरवाइज उरम फारुख और यासीन मलिक के नेतृत्व वाले अलगाववादी धड़े ज्वाइंट रिजिस्टेंट लीडरशिप (जेआरएल) ने रविवार को मुठभेड़ में मारे गए छह लोगों और उनके परिवारों के प्रति एकजुटता दिखाते हुए विरोध मार्च का आह्वान किया है।

विरोध मार्च

धारा 144 के तहत प्रतिबंध लगाए गए हैं

पुलिस का कहना है कि कानून एवं व्यवस्था को बनाए रखने के लिए क्षेत्र में सीआरपीसी की धारा 144 के तहत प्रतिबंध लगाए गए हैं। यासीन मलिक श्रीनगर की सेंट्रल जेल में बंद हैं जबकि गिलानी और उमर फारुख को नजरबंद रखा गया है। स्कूलों, कॉलेजों और विश्वविद्यालयों को बंद कर दिया गया है। बुधवार को होने वाली सभी परीक्षाएं स्थगित कर दी गई है।

रेल सेवाएं भी बाधित हैं

रेल सेवाएं भी बाधित हैं। दक्षिण कश्मीर क्षेत्रों में इंटरनेट सेवाएं लगातार तीसरे दिन भी बाधित है। श्रीनगर और अन्य जिला मुख्यालयों में बाजार, सार्वजनिक परिवहन और अन्य कारोबारी प्रतिष्ठानों को बंद कर दिया गया है। घाटी के संवेदनशील क्षेत्रों में कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने के लिए जम्मू एवं कश्मीर पुलिस और सीआरपीएस के जवानों की भारी संख्या में तैनाती की गई है।

loading...
शेयर करें