केजरीवाल को बड़ा झटका, इनकम टैक्स ने ‘आप’ को भेजा 30 करोड़ का नोटिस

0

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी (आप) को आयकर विभाग ने कारण बताओ नोटिस भेजा है। आयकर विभाग ने आप से पूछा है कि 30.67 करोड़ रुपये आपसे क्यों न वसूले जाएं। एक आईटी अधिकारी ने बताया, पार्टी के सभी कर रिकॉर्डो का आकलन पूरा करने के बाद उन्हें नोटिस भेजा गया है। पार्टी पर आरोप है कि उसने 2014 में अपने चंदे को लेकर जो सूचनाएं विभाग को दीं वो सही नहीं थीं।

‘आप’ ने 13.16 करोड़ रुपये के मूल्य की आय की खुलासा नहीं किया है

नोटिस में कहा गया है कि आप ने 13.16 करोड़ रुपये के मूल्य की आय की खुलासा नहीं किया है। इसमें कहा गया है कि पार्टी की कुल कर योग्य आय 68.44 करोड़ रुपये आंकी गई है, जो वित्त वर्ष 2014-15 और 2015-16 के दौरान की है। आयकर विभाग ने कहा कि बैंक खाते में दान के रूप में प्राप्त किया गया धन खातों में दर्ज नहीं है। नोटिस में कहा गया है कि आप ने कम से कम 461 दान देने वाले लोगों का पूरा विवरण दर्ज नहीं किया था। इन्हीं लोगों ने 6.26 करोड़ रुपये पार्टी को दान दिए थे। दान की गई हर राशि 20 हजार रुपये से अधिक थी।

आयकर विभाग ने पार्टी के नेताओं को नोटिस दिया था

ये मामला इस साल की शुरुआत में उस समय भी उछला था जब आयकर विभाग ने पार्टी के नेताओं को नोटिस देकर उनसे चंदे के बारे में जवाब-तलब करने के लिए उन्हें पेश होने को कहा था। तब पार्टी नेताओं ने आरोप लगाया था कि आयकर विभाग केंद्र सरकार की शह पर उस समय उनके नेताओं को परेशान कर रहा है जिस समय पार्टी के नेता पंजाब और गोवा में चुनाव प्रचार में व्यस्त हैं।

आप ने मोदी सरकार पर लगाया आरोप

आयकर विभाग ने कहा कि पार्टी ने अपनी वेबसाइट पर 36.95 करोड़ रुपये के दान का खुलासा नहीं किया है। साथ ही विभाग द्वारा दिए गए 34 मौकों पर प्रतिक्रिया देने में पार्टी नाकाम रही। अधिकारी ने कहा, विभाग ने आप के खिलाफ दंडात्मक कार्यवाही शुरू कर दी है। वहीं, आप के सूत्रों ने इस नोटिस को मोदी सरकार की बदले की कार्रवाई बताया है। उन्होंने कहा कि ये देश के इतिहास में पहली बार है कि राजनीतिक दल के चंदे को करयोग्य आय समझा जा रहा है। आप के शीर्ष नेताओं को कहना है कि वे इससे डरेंगे नहीं और नोटिस के खिलाफ कानूनी विकल्प इस्तेमाल करेंगे।

loading...
शेयर करें

आपकी राय