RTI ने किया खुलासा, इनके कहने पर श्रीदेवी को राजकीय सम्मान के साथ दी गई अंतिम विदाई

0

नई दिल्ली। बॉलीवुड की दिग्गज अभिनेत्री श्रीदेवी को राजकीय सम्मान के साथ विदाई देने पर तरह- तरह के सवाल उठाए जा रहे हैं। जिसपर अब आरटीआई ने खुलासा किया है। आरटीआई की रिपोर्ट के मुताबिक, श्रीदेवी को राजकीय सम्मान महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के कहने पर दिया गया।

श्रीदेवी को राजकीय सम्मान

कार्यकर्ता अनिल गलगली ने आरटीआई दाखिल कर प्रोटोकॉल डिपार्टमेंट से इस सिलसिले में जानकारी मांगी थी। प्रोटोकॉल डिपार्टमेंट ने जवाब में गलगली को बताया कि श्रीदेवी को राजकीय सम्मान देने का आदेश मुख्यमंत्री फडणवीस ने दिया था। प्रोटोकॉल डिपार्टमेंट जनरल एडमिनिस्ट्रेशन डिपार्टमेंट के अंदर आता है, जिसके मुख्य खुद मुख्यमंत्री होते हैं।

आरटीआई याचिका दायर करने का कारण पूछने पर कार्यकर्ता ने कहा कि राजकीय सम्मान के लिए योग्यता और इसका आदेश देने वाले अधिकृत व्यक्ति को लेकर संशय दूर करने के लिए उन्होंने याचिका दायर की थी।

श्रीदेवी को राजकीय सम्मान

बता दें, श्रीदेवी की मौत 24 फरवरी की रात दुबई के एक होटल में हुई थी। फॉरेंसिक रिपोर्ट के मुताबिक श्रीदेवी की मौत बाथटब में डूबने की वजह से हुई। इसके साथ ही उनके खून में शराब की मात्रा भी पाई गई थी। इससे ये अंदाजा लगाया जा रहा है कि शराब के नशे में धुत श्रीदेवी बाथटब में गिर गईं और दम घुटने के कारण उनकी मौत हो गई।

ऐसे में कई लोग ये सवाल खड़ा कर रहे हैं कि श्रीदेवी की मौत शराब पीने के कारण हुई और ऐसे में उन्हें राजकीय सम्मान देना, तिरंगे का अपमान है।

श्रीदेवी को राजकीय सम्मान

बता दें,किसी को राजकीय सम्मान देने का हक केंद्र सरकार का होता है, लेकिन राज्य सरकार भी अपनी इस शक्ति का प्रयोग कर के राजकीय सम्मान के आदेश दे सकती है। राजकीय सम्मान मौजूदा और पूर्व राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, केंद्रीय मंत्री और मुख्यमंत्रियों को दिया जाता है। हालांकि कई बार ऐसा देखने को मिला है मुख्यमंत्री ने अपनी शक्तियों का प्रयोग कर प्रतिष्ठित हस्तियों को राजकीय सम्मान देने के आदेश दिए हैं।

loading...
शेयर करें