अपने डिजाइनर कपड़ों पर कितना खर्च करते हैं पीएम मोदी, RTI की रिपोर्ट में हुआ खुलासा

0

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री का पहनावा अक्सर चर्चा का विषय बना रहता है। कई बार विपक्ष उनके ड्रेस को लेकर हमलावर हो चुका है। इसी ड्रेस को लेकर तंज कसते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सूट-बूट की सरकार तक कह चुके हैं लेकिन अब यह विवाद थमता नजर आ रहा है। क्योंकि आरटीआई के जरिये देश के प्रधानमंत्रियों द्वारा कपड़ों पर खर्च की जाने वाली रकम को लेकर अब बेहद दिलचस्प जानकारी सामने आई है।

इस जानकरी के सामने आने के बाद शायद विपक्ष अब इस बात को मुद्दा नहीं बनाएगा। दरअसल एक आरटीआई का जवाब देते हुए प्रधानमंत्री कार्यालय ने कहा है कि मांगी गई सूचना व्यक्तिगत किस्म की है और इसे सरकारी रिकॉर्ड में शामिल नहीं किया जाता है।

पीएमओ कहा कि पीएम जो कपड़े पहनते हैं उसका खर्च सरकार नहीं उठाती। आरटीआई कार्यकर्ता रोहित सभरवाल ने कहा कि अब यह विवाद हमेशा के लिए खत्म हो गया है कि भारत सरकार प्रधानमंत्रियों के कपड़े पर भारी पैसे खर्च करती है। वहीँ इस जवाब के आने के बाद बीजेपी ने कहा कि अब तो साफ़ हो गया है तो विपक्ष को समझ लेना चाहिए कि वो कपड़ों को लेकर बेकार में हंगामा न करे।

RTI के जवाब के बाद बीजेपी का बयान     

बीजेपी नेता जीवन गुप्ता ने टीओआई को बताया कि यदि देश का प्रधानमंत्री अच्छे कपड़े पहनता है तो इससे देश की अच्छी छवि बनती है। उन्होंने कहा कि पीएम ने मात्र एक बार ही डिजाइनर सूट पहना था, जिसे बाद में नीलाम कर दिया गया था, और इससे मिले पैसे को स्वच्छ भारत अभियान में खर्च किया गया था।

उल्लेखनीय है कि अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के भारत दौरे के समय पीएम मोदी ने एक डिजायनर सूट पहना था, जो काफी सुर्ख़ियों में था। इस सूट पर की धारियों में पर छोटे अक्षरों में नरेंद्र दामोदरदास मोदी लिखा पाया गया था। इस सूट को लेकर सोशल मीडिया पर काफी बहस छिड़ गई थी और उनके राजनीतिक विरोधियों मुद्दा बनाया और पीएम पर निशाना साधा।

बाद में इस सूट को नीलम कर दिया गया। गुजरात के व्यापारी लालजीभाई तुलसीबाई पटेल ने इसे  4 करोड़ 31 लाख 31 हजार 311 रुपये में खरीदा था।

 

loading...
शेयर करें