सउदी में बना इतिहास, पहली बार महिलाओं ने देखा पुरुषों का मैच

0

रियाद। महिलाओं के प्रति अति रूढ़िवादी देश सऊदी अरब में पहली बार महिलाओं को स्टेडियम में बैठकर फुटबॉल मैच का लुत्फ उठाया। इस मौके पर महिलाओं ने बुर्का पहन कर किंग अबदुल्ला स्टेडियम के गेट पर खड़े होकर लोगों का स्वागत किया। बता दें कि सउदी अरब में महिलाओं को पहली बार पुरुषों का फुटबॉल मैच देखने की इजाजत मिली है।

महिलाओं ने जिस फुटबाल मैच को पहली बार स्टेडियम में बैठकर देखा वह सऊदी अरब प्रोफेशनल लीग 2017-18 में अल-अह्ली और अल बातिन के बीच खेला गया जिसमें अल-अह्ली जेद्दा ने अल बातिन को 5-0 से हरा दिया।

जनरल स्पोर्ट्स अथॉरिटी ने पिछले साल अक्तूबर महीने मे कहा था कि वह जेद्दा, रियाद और दमम में साल 2018 तक स्टेडियमों को इस तरह से बना देंगे जिनमें परिवारों को समियोजित कर सकें। सऊदी अरब की महिलाएं अब इसके बाद 13 जनवरी को जेद्दा और 18 जनवरी को दम्माम में भी स्टेडियम में बैठकर मैच देख सकेंगी। स्थानीय लोगों मानना है कि इन सभी फैसलों के पीछे साउदी प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान की युवा और प्रगतिशील सोच है। शुक्रवार को मैच शुरू होने से पहले ही विभिन्न क्लब ने महिलाओं को लुभाने के लिए ट्विटर के जरिए अलग-अलग किस्म की पेशकश शुरू कर दी जिसमें टीम के रंगों की अबाया देने जैसे कई अनोखे प्रस्ताव दिए गए।

आपको बता दे की महिलाओं के प्रति अति रूढ़िवादी देश सऊदी अरब में आज भी महिलाओं को पुरषों के बराबर का दर्ज़ा नहीं दिया गया है। सऊदी अरब पूरी तरह से पुरुष प्रधान देश है।

  • सऊदी अरब में अब भी महिलाएं अपने परिवार के पुरुषों की रज़ामंदी के बिना ये काम नहीं कर सकतीं:
  • पासपोर्ट के लिए आवेदन
  • विदेश यात्रा
  • शादी
  • बैंक खाता खोलना
  • कुछ ख़ास क़िस्म के व्यापार शुरू करना

loading...
शेयर करें