उत्तर प्रदेश के नोयडा में  स्वच्छता अभियान की दिखी झलक, लगाए गए स्टेनलेस स्टील के 100 डस्टबिन

0

नोयडा। उत्तरप्रदेश के नोयडा में स्वच्छता की झलक दिखाई देने लगी है। यहां स्वच्छ भारत मिशन के तहत गीले एवं सूखे कचरे के लिए ‘देशव्यापी हाईजीन एवं सैनिटेशन अभियान’ कार्यक्रम शुरू किया गया। आपको बताते चले कि इस अभियान के तहत नोएडा के सार्वजनिक स्थानों पर लैबोरेटरी टेस्टेड स्टेनलेस स्टील के 100 डस्टबिन लगाए गए हैं।

नोयडा के विधायक सिहं ने इस अभियान की शुरुआत की। पंकज सिंह ने किया। आरबी (पूर्व में रेकिट बेंकाईजर) और जागरण पहल ने नोएडा के विभिन्न अधिकरणों के साथ मिलकर इस अभियान को शुरू किया। इस अभियान के तहत 2022 तक 100 प्रतिशत स्वच्छता प्राप्त करने के सरकार के मिशन और देश में स्वच्छता को बढ़ावा देकर भारत को खुले में शौचमुक्त बनाने का लक्ष्य रखा गया है।

आरबी के एक्सटर्नल अफेयर्स एवं पार्टनरशिप्स प्रमुख रवि भटनागर ने कहा कि हम यूपी सरकार के साथ लंबे समय से जुड़े हैं और कचरा प्रबंधन के क्रियान्वयन पर उनके साथ काम कर रहे हैं। हम नोएडा में स्वच्छता के सर्वोच्च स्तर को बनाए रखने के लिए जिला प्रशासन के साथ मिलकर काम करने के लिए समर्पित हैं। आरबी ने ‘डिटॉल बनेगा स्वच्छ इंडिया’ अभियान के तहत स्कूलों और सार्वजनिक स्थान को साफ रखने के लिए 100 करोड़ रुपये के निवेश का लक्ष्य रखा है।

इसी बीच आरबी और जागरण ने एक बयान में कहा कि ‘डिटॉल बनेगा स्वच्छ इंडिया’ अभियान के तहत हम स्कूल हैंडवॉश प्रोग्राम व यंग मदर प्रोग्राम जैसे विभिन्न जागरूकता अभियानों द्वारा हाथों की सफाई के लिए व्यावहारिक परिवर्तन लाना चाहते हैं। साथ ही हमारा लक्ष्य स्वच्छ टॉयलेट्स के विकास व रखरखाव में सहयोग करने के लिए साझेदारों के साथ काम करते हुए स्वच्छता सुविधाएं बेहतर बनाना है।

इसी के साथ कंपनी ने कहा कि देश में 53 प्रतिशत जनसंख्या को टॉयलेट उपलब्ध नहीं है और पांच साल से कम आयु के 1.20 लाख से अधिक बच्चों की मौत डायरिया से हो जाती है, इसलिए इस तरह के अभियानों को सघन रूप से चलाए जाने की जरूरत है।

loading...
शेयर करें