शोपियां केस – सुप्रीम कोर्ट से मिली सेना को बड़ी राहत, मेजर के खिलाफ दर्ज एफआईआर पर लगाई रोक

0

नई दिल्ली। शोपियां फायरिंग केस में एक नया मोड़ सामने आया है। आज सुप्रीम कोर्ट ने सेना के मेजर आदित्य कुमार के खिलाफ दर्ज एफआईआर पर रोक लगा दी है। कोर्ट ने इस मामले में केंद्र व राज्य सरकार को नोटिस जारी कर दो हफ्ते के अंदर जवाब मांगा है। उसके बाद ही इस पर कार्रवाई आगें बढ़ाई जाएगी। इस दौरान मेजर के खिलाफ पुलिस द्वारा कोई भी एक्शन लेने पर रोक लगा दी गई है। कोर्ट के इस फैसले से सेना को बड़ी राहत मिली है।

मेजर के पिता ने कोर्ट में दायर की थी याचिका

मेजर आदित्य के पिता रिटायर्ड लेफ्टिनेंट कर्नल कर्मवीर सिंह ने इस मामले में कोर्ट में याचिका दायर की थी। उन्होंने इसमें कहा था कि जम्मू पुलिस द्वारा उनके बेटे के खिलाफ दर्ज की गई एफआईआर से राज्य में आतंकवादियों के खिलाफ लड़ रहे जवानों का मनोबल गिरेगा इसलिए इसे रद्द किया जाए।

चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा की अगुआई वाली बेंच के सामने याचिकाकर्ता की ऐडवोकेट ऐश्वर्या भाटी की ओर से दलील दी गई कि शोपियां में गोलीबारी की घटना के संबंध में मेजर आदित्य कुमार के खिलाफ दर्ज केस गैरकानूनी है।

मामले पर जानकारी देते हुए वकील ऐश्वर्य भाटी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और राज्य सरकार को नोटिस भेजा है। हमें कहा गया है कि कि हम भारत के अटॉर्नी जनरल को याचिका की एक प्रति दें। साथ ही कोर्ट ने भारत के अटॉर्नी जनरल से केंद्र सरकार के रुख की जानकारी दो हफ्तों में मांगी है। जम्मू-कश्मीर सरकार को भी अपना रुख इस मसले पर दो हफ्तों में साफ करना होगा।

ये था पूरा मामला

27 जनवरी को शोपियां में पत्थर फेंकती भीड़ पर फायरिंग करने के दौरान दो कश्मीरी नागरिकों की मौत हो गई थी। इस मौत का विरोध करते हुए जम्मू कश्मीर की मुख्यंमंत्री महबूबा मुफ्ती ने इस मामले में जांच करने और पुलिस को कार्रवाई के आदेश दिए थे।

जिसमें मेजर आदित्य के खिलाफ राज्य पुलिस ने केस दर्ज किया था। राज्य सरकार के इसी आदेश के खिलाफ मेजर आदित्य के पिता ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया। जिसके बाद अब कोर्ट द्वारा मेजर के खिलाफ दर्ज एफआईआर पर रोक लगा दी गई है।

loading...
शेयर करें