गोरखपुर उप चुनाव : सपा प्रत्याशी ने कहा-जीत का भरोसा लेकिन ईवीएम पर नहीं

0

लखनऊ। यूपी की दो सीटों गोरखपुर और फूलपुर में हुए उप चुनाव की मतगाड़ना जारी है। शुरूआती रुझानों के मुताबिक, गोरखपुर से बीजेपी प्रत्याशी उपेंद्र दत्त शुक्ल आगे चल रहे हैं। वहीँ फूलपुर से सपा प्रत्यासी नागेन्द्र पटेल ने बढ़त बनायीं हुयी है। वहीं सपा प्रत्याशी प्रवीण निषाद ने कहा है कि उन्हें अपनी जीत पर पूरा भरोसा है लेकिन ईवीएम पर नहीं है।

गोरखपुर

प्रवीण निषाद ने कहा कि समाजवादी पार्टी और बसपा में हुए गठबंधन को लेकर जनता में काफी उत्साह है। वह मानकर चल रहे हैं कि ये सीट हम ही जीतेंगे। लेकिन सभी के दिमाग में ईवीएम को लेकर संदेह है। सरकार कुछ भी कर सकती है। प्रशासन उन्हीं का है।

जैसे ही मतगड़ना शुरू हुई वैसे ही सपा प्रत्याशी प्रवीण निषाद ने ईवीएम से छेड़छाड़ का आरोप भी लगाया है। प्रवीण ने कहा ईवीएम के माध्यम से रिजल्ट बदले जा रहे हैं। उन्होंने कहा पहले भी ऐसा हुआ है। आयोग कुछ कहता है और डीएम कुछ और कहते हैं। वहीं बीजेपी ने ईवीएम से छेड़छाड़ के आरोपों को ख़ारिज किया है।

बता दें उत्तर प्रदेश की दो लोकसभा सीटों गोरखपुर और फूलपुर के लिए 11 मार्च को हुए उपचुनाव में वोटों की गिनती शुरू हो चुकी है। कहा जा रहा है कि दोपहर 12 बजे तक तस्वीर साफ हो जाएगी। यह चुनाव मुख्यमंत्री के लिए किसी अग्निपरीक्षा से कम नहीं है।

गोरखपुर से बसपा के समर्थन के बाद सपा के सिंबल पर चुनाव लड़ रहे निषाद पार्टी के इंजीनियर प्रवीण निषाद मैदान में हैं। कांग्रेस की तरफ सुरहिता करीम प्रत्याशी बनाई गईं हैं। गोरखपुर सीट के लिये 10 और फूलपुर सीट पर 22 उम्मीदवार मैदान में हैं। गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा सीट हाई प्रोफाइल सीट के तौर पर देखा जाता रहा है।

अब इन दोनों सीटों पर जीत बीजेपी के लिए अहम जैसा है। केंद्र में चार साल और उत्तर प्रदेश में करीब एक साल से बीजेपी सत्तारूढ़ है। ऐसे में जनता सरकार के कामकाज की भी परीक्षा लेगी। यह चुनाव सभी पार्टियों के लिए एक महायुद्ध बनी हुयी है। योगी आदित्यनाथ के लिए ये चुनाव के चुनौती है। गोरखपुर की सीट पर पांच साल तक उनका कब्ज़ा रहा है। अब मुख्यमंत्री के बनने के बाद सबसे बड़े नेता बनकर उभरें हैं। ऐसे में पार्टी को बहुत सी उम्मीदें हैं।

loading...
शेयर करें