मोहन भागवत के बयान पर मचा बवाल, राहुल गांधी बोले- ये पूरे देश का अपमान है

0

नई दिल्ली। आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने हाल ही में सेना को लेकर एक ऐसा बयान दिया जिसे लेकर विवाद खड़ा हो गया है। मोहन भागवत ने अपने स्वयंसेवकों के सेना से पहले तैयार हो जाने का दावा किया था जिसके बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने  उनपर निशाना साधा है। राहुल ने कहा है कि भागवत का ये बयान पूरे देश के लिए अपमानजनक है।

मोहन भागवत

रविवार को मोहन भागवत ने कहा था कि जो सैनिक तैयार करने में सेना 6-7 महीने लगाती है, उन्हें संघ 3 दिन में तैयार कर सकता है। यह हमारी क्षमता है। कांग्रेस और पाटीदार नेता ने भागवत के बयान पर विरोध जताया है। कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने इसे हर भारतीय का अपमान बताया है, क्‍योंकि यह उन लोगों का अपमान है जिन्‍होंने हमारे देश के लिए अपनी जान न्‍योछावर कर दी। यह देश के झंडे का भी अपमान है, क्योंकि तिरंगे को सलाम करने वाले सैनिकों का अपमान किया गया है। उन्‍होंने यह भी कहा कि हमारे शहीदों और सेना का अपमान करने के लिए मोहन भागवत को शर्म आनी चाहिए।

मोहन भागवत के बयान पर RSS की सफाई आई है। संघ ने बयान जारी कर कहा है, ”मोहन भागवत ने सेना से संघ की तुलना नहीं की है, बल्कि ये कहा कि आम लोगों को सैनिक बनाने में छह महीने लगते हैं। अगर सेना ट्रेनिंग दे तो तीन दिन में स्वयंसेवक सैनिक बन जाएगा।”

केजरीवाल की आम आदमी पार्टी ने भागवत के इस बयान पर सवाल उठाए हैं। आप के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने ट्विटर पर कहा है, ‘’अगर ये बयान किसी दूसरी पार्टी के नेता ने दिया होता तो भाजपाई अब तक उसे पाकिस्तान भेज देते। मीडिया तो फांसी की सज़ा की मांग कर देता, लेकिन बात भागवत की है। “हम आह भी भरते हैं तो हो जाते हैं बदनाम, वो क़त्ल भी करते है तो चर्चा नहीं होती।”

loading...
शेयर करें