अचानक चमोली शोध संस्‍थान पहुंचे डीएम, हालत देख हुए दंग

0

चमोली। अचानक चमोली के जड़ी बूटी शोध एवं विकास संस्थान का औचक निरीक्षण करने जनपद डीएम पहुंच गए। इस दौरान वहां की व्‍यवस्था देखकर दंग रह गए। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी आशीष जोशी ने पाया कि जो उपकरण वहां पर मौजूद है। उन्‍हें कई महीनों से प्रयोग में नहीं लाया गया हैं। इतना ही नहीं वहां पर पाया कि शोध संस्थान द्वारा केवल उन्हीं पौधों को उगाया जा रहा है, जो शोध संस्थान के कार्यो के अनरूप नहीं है।

मिली जानकारी के मुताबिक डीएम ने शोध संस्‍थान के मौजूदा हालत को देखकर कहा कि जड़ी बूटी शोध एवं विकास संस्थान को मूल स्वरूप में विकसित किया जाए। आगे निर्देश देते हुए कहा कि हिमालयी क्षेत्र में पाई जाने वाली बहुमूल्य जड़ी बूटियों के संरक्षण, संवर्घन एवं कृषिकरण किया जाए। इस कदम से लोगों को लाभ मिलेगा। साथ ही स्‍थानिए लोगों को भी फायदा होगा।

यह भी पढ़े- पौष पूर्णिमा पर कड़ाके की ठंड में श्रद्धालुओं ने लगाई आस्‍‍था की डुबकी

अपने निरीक्षण के दौरान डीएम ने उद्यान विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिया। उनसे परंपरागत खेती के अलावा जड़ी-बूटी की खेती को काश्तकारों तक पहुंचाने के लिए एक्शन प्लान तैयार करने आदेश दिया है। इस दौरान जिलाधिकारी के साथ जनपद के अन्‍य अधिकारी भी साथ रहे।

loading...
शेयर करें