सुरेश प्रभु ने नागरिक उड्डयन मंत्री का कार्यभार संभाला, वाणिज्य मंत्रालय भी रहेगा उनके पास

0

नई दिल्ली। सुरेश प्रभु ने सोमवार को आधिकारिक तौर पर नागरिक उड्डयन मंत्रालय का अतिरिक्त कार्यभार संभाल लिया है। फिलहाल उनके पास इसके अलावा वाणिज्य मंत्रालय का भी कार्यभार रहेगा। इस मौके पर नागरिक उड्डयन राज्यमंत्री जयंत सिन्हा ने उनका स्वागत किया।

sureshprabhu

इस अवसर पर सुरेश प्रभु ने कहा कि नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद से विकास बहुत तेज़ी से हो रहा है। पीएम मोदी के नेतृत्व में विकास का ट्रेलर लोग देख चुके है। विमानन उद्योग ने रोजगार पैदा करने में अहम भूमिका निभाई है, इसमें असिमित अवसर है। हम इसे और आगे बढ़ाएंगे। आशा करता हूं इस सफ़र में भी मीडिया हमारा साथ देगा। उनका इशरा टेक्नोलॉजी से जुड़े लोगों की तरफ था।

आपको बता दे कि जब सुरेश प्रभु रेल मंत्री थे तो सोशल मीडिया (फेसबुक, ट्विटर) के माध्यम से लोगों की शिकायतों पर त्वरित कार्यवाई करते थे। उमीद है कि उड्डयन मंत्री के पद पर आसीन होकर अब वो सोशल मीडिया के साहारे भी आम जनता का शिकायतों का निवारण ऐसे ही करंगे और विमानन उद्योग को और बेहतर बनाने की कोशिश करेंगे।

इससे पहले उड्डयन मंत्रालय अशोक गजपति राजू के पास था। वह तेलगू देशम पार्टी से सांसद थे। लेकिन हालिया घटनाक्रम में टीडीपी केंद्र सरकार का हिस्सा नहीं रही। हालांकि वह एनडीए का हिस्सा जरूर है।

इसके बाद शुक्रवार को उन्होंने पीएमओ को अपना इस्तीफा सौंप दिया था। इसके बाद शनिवार को राष्ट्रपति भवन से यह आदेश जारी किया गया। रेल मंत्रालय के बाद सुरेश प्रभु वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय के मंत्री बनाए गए। उनकी जगह रेल मंत्रालय का प्रभार पीयूष गोयल को सौंपा दिया गया था।

loading...
शेयर करें