स्वाट टीम को मिला नकली नोट छापने वाला कारखाना, तीन गिरफ्तार

0

कानपुर। उत्तर प्रदेश की स्वाट टीम ने मंगलवार को नकले नोट छापने वाले एक बहुत बड़े गिरोह का भंडाफोड़ किया है। टीम ने कानपुर देहात जिले के रसूलाबाद थाना क्षेत्र में जनसेवा केंद्र में छापा मारकर नकली नोट छापने के कारखाने का खुलासा किया। साथ ही टीम ने इस गिरोह के तीन सदस्यों को भी गिरफ्तार किया और 12 लाख रुपये के 2,000 और 500 रुपये के नकली नोट बरामद किए।

स्वाट टीम प्रभारी संतोष कुमार आर्य की टीम को मुखबिर से सूचना मिली कि रसूलाबाद से सटे कहिंजरी कस्बे में चल रहे जनसेवा केंद्र में कंप्यूटर स्कैनर के जरिए पांच सौ और दो हजार रुपये के नकली नोट छापे जा रहे हैं। सूचना पर स्वाट टीम ने मंगलवार तड़के जनसेवा केंद्र पर छापा मारा और मौके से नोट छापते तीन युवकों को रंगे हाथ पकड़ा। पुलिस टीम ने कंप्यूटर तथा दूसरे उपकरण व मशीनें भी जब्त कर लिए। मौके से 12 लाख 39 हजार 500 रुपये की नकली मुद्रा बरामद की गई।

पुलिस ने बताया कि पकड़े गए युवकों की पहचान अश्वनी कुमार, जय प्रताप गौड़ उर्फ राजा सिंह और राजकुमार तिवारी उर्फ नन्हऊ के रूप में हुई। जनसेवा केंद्र अश्वनी चलाता है और तीन लोग अब तक करीब 40 लाख रुपये के नकली नोट बाजार में चला चुके हैं। पकड़े गए युवकों से पूछताछ चल रही है।”

वहीं इस कामयाबी पर अपर पुलिस महानिदेशक कानपुर जोन ने टीम को 15,000 रुपये और एसपी ने 5,000 रुपये पुरस्कार स्वरूप प्रदान किए।

loading...
शेयर करें