सीतापुर : आंबेडकर जयंती से पहले हिंसा फैलाने की नियत से अराजक तत्वों ने तोड़ी बाबा साहेब की मूर्ति

0

लखनऊ। संविधान निर्माता बाबा भीम रामजी राव आंबेडकर की जयंती आज पूरे देश में बड़े ही धूम-धाम से मनाई जा रही है। वहीं कुछ अराजक तत्वों ने हिंसा फैलाने की नियत से सीतापुर जिले में बाबा साहब की एक मूर्ति को क्षतिग्रस्त कर दिया है। इस घटना की जानकारी मिलते ही प्रशासन और पुलिस महकमे में हडकंप मचा गया।

सीतापुर

मौके पर पुलिस ने पहुंचकर प्रतिमा को ठीक कराते हुए इसकी पुनर्स्थापना कराई है। वहीं इस घटना के बाद ग्रामीणों में काफी आक्रोस है। प्रतिमा की सुरक्षा के लिए पुलिस के जवानों को तैनात किया गया है। आपको बता दें ऐसा पहली बार नहीं हुआ कि बाबा साहब भीमराव आंबेडकर तोड़ी गई हो।  इससे पहले कई ऐसी घटनाएँ सामने आ चुकी हैं।

त्रिपुरा में लेनिन की मूर्ति टूटने के बाद से मानों देश भर में मूर्ति तोड़ने की एक मुहिम सी चल गई है। लेनिन के बाद तमिलनाडु के वेल्लोर जिले में समाज सुधारक एवं द्रविड़ आंदोलन के संस्थापक ई वी रामासामी‘‘ पेरियार’’ की मूर्ति को क्षतिग्रस्त किया गया। इसके बाद 7 मार्च को उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले में अराजकतत्वों ने बाबा साहब भीमराव आंबेडकर की मूर्ति को क्षतिग्रस्त कर दिया।

उसके बाद ऐसी ही घटना एटा जिले में भी देखने को मिली। यहां के थाना जलेसर कस्बे में गत 26 मार्च की रात मोहल्ला गोला कुआं में तिराहे के पास स्थित संविधान निर्माता डॉ भीमराव आंबेडकर प्रतिमा को अराजक तत्वों ने तोड़ दिया। जिसके बाद काफी हंगामा मचा था।

वहीँ इलाहबाद में बी यही घटना दोहराई गई। अब सीतापुर में मूर्ति को क्षतिग्रस्त किया गया है। घटना शहर कोतवाली इलाके के अकोइया गांव की है। पुलिस अब मूर्ति तोड़ने वालों की तलाश कर रही है। वहीं अंबेडकर जयंती के दिन यूपी में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं।

हाल ही बंद के दौरान हुई हिंसा के घटनाओं को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार को कड़ी सुरक्षा व्यवस्था करने एक आदेश दिए हैं।

loading...
शेयर करें