मुश्किल में NDA, मोदी सरकार की सहयोगी पार्टी ने लोकसभा में बजट को लेकर किया प्रदर्शन

0

नई दिल्ली। 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले मोदी सरकार की मुश्किलें बढ़ने लगी हैं। पहले महाराष्ट्र में बीजेपी की सहयोगी पार्टी शिवसेना ने चुनाव अकेले लड़ने का ऐलान कर दिया। वहीं, अब खबर आ रही है कि एनडीए की सहयोगी पार्टी तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) भी कुछ नाराज चल रही है। एनडीए की सहयोगी टीडीपी ने मंगलवार को बजट को लेकर प्रदर्शन किया, जिसके कारण सदन की कार्यवाही कुछ देर के लिए रोकनी पड़ी।

वाईएसआर कांग्रेस के सदस्यों ने भी ऐसा ही किया

जैसे ही सदन की कार्यवाही शुरू हुई टीडीपी सदस्य हाथों में प्लेकार्ड लेकर लोकसभा अध्यक्ष के आसन के समीप इकट्ठे हो गए और नारे लगाने लगे। वाईएसआर कांग्रेस के सदस्यों ने भी ऐसा ही किया। इन सदस्यों के प्रदर्शन की वजह से लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने सदन की कार्यवाही 10 मिनट के लिए स्थगित कर दी। सदन की कार्यवाही दोबारा शुरू होने पर भी माहौल में कोई बदलाव नहीं आया और सदन की कार्यवाही इन प्रदर्शनों के बीच शुरू की गई।

सदन की कार्यवाही नारे के बीच आगे बढ़ती रही

टीडीपी सदस्यों ने ‘न्याय’ से संबंधित नारे लगाए और इन सदस्यों के प्लेकार्ड में सरकार से ‘गठबंधन धर्म’ का पालन करने के बारे में लिखा हुआ था। लोकसभा अध्यक्ष की ओर से सांसदों को शांत कराने की कई कोशिश विफल हो गई और सदन की कार्यवाही नारे के बीच आगे बढ़ती रही। संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार ने टीडीपी सदस्यों को आश्वस्त किया कि केंद्र उनकी मांगों को लेकर संवेदनशील है।

प्रधानमंत्री और यह सरकार आंध्रप्रदेश के विकास के लिए प्रतिबद्ध है

उन्होंने कहा, प्रधानमंत्री और यह सरकार आंध्रप्रदेश के विकास के लिए प्रतिबद्ध है। जो मुद्दे ये लोग उठा रहे हैं, इनपर ध्यान दिया जाएगा। इसके बावजूद भी टीडीपी सदस्यों ने नारे लगाना जारी रखा और प्रदर्शन के दौरान एक समय गाना भी गाया। प्रदर्शन के बावजूद सदन में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा शुरू हुई। बता दें हाल ही में टीडीपी प्रमुख एवं मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू को एनडीए से फिलहाल बाहर नहीं होने के लिए मजबूर किया है। उन्होंने बैठक में फैसला लिया था कि फिलहाल वह गठबंधन नहीं तोड़ेंगे।

loading...
शेयर करें