मुख्य सचिव ने किया कुछ ऐसा कि केजरीवाल के उड़ गए होश

0

नई दिल्ली। दिल्ली मुख्य सचिव अंशु प्रकाश और सीएम अरविंद केजरीवाल के बीच एक नया विवाद सामने आया है। रविवार को सचिव ने मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से भेजी गई बजट संबंधित फाइलों का लेने से इंकार कर दिया। उन्होंने संडे का दिन होने के चलते यह फाइलें वापस लौंटा दीं। इस बारे में अंशु प्रकाश का कहना है कि इस तरह की फाइलें वह सोमवार को ऑफिस ऑवर में ही रिसीव करते हैं।

मामले को लेकर दिल्ली सरकार की तरफ से जारी किया गया बयान

मामले को लेकर दिल्ली सरकार ने बयान जारी किया है। सरकार ने एक बयान में कहा कि यह बहुत ही आश्चर्यजनक है दिल्ली के बजट से कुछ ही दिन पहले रविवार को मुख्य सचिव ने वार्षिक बजट भाषण की तैयारी के लिए मुख्यमंत्री की टिप्पणियों वाली महत्वपूर्ण फाइलें स्वीकार करने से इनकार कर दिया। यह फाइलें मोहल्ला क्लीनिक और पॉलीक्लीनिक स्थापना की जवाबदेही तय करने से संबंधित थी।

बयान में कहा गया है कि इस वर्ष दिल्ली सरकार बजट बनाने में एक नई पहल शुरू करेगी। अधिकतर बड़ी परियोजनाओं के लिए विशिष्ट मील का पत्थर और समय सीमा विधानसभा के समक्ष पेश की जाएगी ताकि दिल्ली सरकार को विधानसभा के प्रति और अधिक जवाबदेह बनाया जा सके।

मीडिया रिपोर्टस के अनुसार एक वरिष्ठ अधिकारी ने छापने की शर्त पर बताया कि मुख्यमंत्री कार्यालय की तरफ से मुख्य सचिव को रविवार को फाइल भेजने के संबंध में कोई आधिकारिक सूचना नहीं दी गई थी।

इसके अलावा जब फाइलें मुख्य सचिव के पास भेजी गई थीं उस वक्त वे अपने आवास पर नहीं थे। और फाइलों को लाने वाले ने इस बात की भी जानकारी नहीं दी कि ये फाइलें बजट भाषण से जुड़ी हुई हैं। अगर फाइलें दिल्ली के बजट से जुड़ी थीं तो वित्त विभाग द्वारा उन फाइलों को भेजा जाना था।

loading...
शेयर करें