वैज्ञानिकों ने इस दिन को बताया सप्ताह का सबसे छोटा‍ दिन

0

ये तो हम सभी जानते हैं कि सप्ताह में सात दिन होते हैं पर क्या आपको पता हैं इन सात दिनों में सबसे छोटा दिन कौन सा हैं? नहीं पता! चलिए हम बताते हैं आपको। हफ्ते का सबसे छोटा दिन होता हैं आपका प्यारा रविवार। जी हां! चौक गये न ये जानकर। आप भी इस बात से सहमत होंगें कि संडे सबसे अच्‍छा दिन होता है क्‍योंकि इस दिन ना तो बॉस की किच-किच होती है और ना ही काम की टेंशन।

जब भी आप रविवार को घर पर होते होंगे आपको ऐसा लगता होगा की दिन कितनी जल्दी निकल गया। इसके पीछे यही रीज़न हैं कि संडे का दिन बाकी दिनों की तुलना में छोटा है। आपको बता दें कि आपका ये अनुमान बिलकुल सही है। इस बात पर मुहर तो नासा के वैज्ञानिकों ने भी लगा दी है। नासा के वैज्ञानिकों ने इस बात को माना है कि रविवार का दिन हफ्ते का सबसे छोटा‍ दिन होता है। ऐसा उन्‍होंने अपनी नई थ्‍योरी के बाद बताया है।

रविवार को लेकर हैं हैं शंका- नासा के वैज्ञानिकों ने इस सर्वे और रिसर्च के आधार पर एक थ्‍योरी बनाई है जिसका नाम है ‘थ्‍योरी ऑफ संडे विस्‍म‘ और इसी थ्‍योरी को ध्‍यान में रखते हुए नासा इस निर्णय पर पहुंचा है कि आम दिनों के मुकाबले रविवार का दिन सबसे छोटा होता है। नासा के एक वैज्ञानिक का कहना है कि उन्‍हें हर रोज़ कई मेल आते हैं जिनमें उनसे पूछा जाता है कि संडे का दिन इतना जल्‍दी कैसे बीत जाता है। बस फिर क्‍या था उनकी टीम ने इसी मुद्दे पर रिसर्च कर डाली। उनका कहना है कि पांच साल की रिसर्च के बाद उनकी टीम इस नतीजे पर पहुंची है कि रविवार का दिन वाकई में बाकी दिनों से छोटा होता है और जल्‍दी खत्‍म हो जाता है। उन्‍हें अपनी रिसर्च के दौरान ऐसे कई महत्‍वपूर्ण सबूत मिले हैं जिनके मुताबिक वो इस थ्‍योरी तक पहुंच पाए हैं।

भारत के एक युवक का संडे तो इतना छोटा था कि वो शनिवार की रात को पॉवर नैप लेने निकले और जब उनकी आंखें खुलीं तो सोमवार लग चुका था। ऐसा ही गोवा की एक लड़की के साथ भी हुआ, उसका संडे इतना छोटा था कि उसने गलती से सोमवार को संडे समझकर छुट्टी कर ली।

कई लोगों ने इस बात को स्‍वीकार किया है कि उनका संडे बाक दिनों के मुकाबले छोटा होता है। वहीं दो युवकों ने कहा कि वो इससे पहले मंडे के सबसे बड़े दिन होने पर रिसर्च कर चुके हैं। इसमें उनके साथ-साथ कई लोगों का भी ये मानना था कि सोमवार हफ्ते का सबसे बड़ा दिन होता है। कुछ लोगों ने ये भी कहा कि बीवी के मायके जाने के बाद हर दिन छोटा लगने लगता है जबकि बीवी घर पर हो तो वही दिन एक साल के बराबर लगता है लेकिन ये थ्‍योरी हमें बीच में ही छोड़नी पड़ी क्‍योंकि दुनियाभर की औरतों ने हमें जूतों से पीटने की धमकियां दे डाली थीं।

इन दोनों युवकों की इस रिसर्च को नोबेल प्राइज़ से नवाजा जाएगा। माना जा रहा है कि लोग इस थ्‍योरी का सहारा लेकर सोमवार को भी ऑफिस से छुट्टी लेने की गुहार लगा सकते हैं।

loading...
शेयर करें