अस्पताल की शर्मनाक हरकत : पहले काटी मरीज की टांग, फिर उसी को बना दिया तकिया

0

झांसी। यूपी के झांसी मेडिकल कॉलेज में एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसे जानकर आपके रौंगटे खड़े हो जाएंगे। अस्पताल में इलाज कराने आए एक युवक की पहले तो टांग काट दी, फिर उसी कटी हुई टांग को उसका तकिया बना दिया। मामले की जानकारी मिलने पर अस्पताल प्रशासन के अधिकारियों द्वारा एक डॉक्टर समेत 4 लोगों को सस्पेंड कर दिया गया है। कॉलेज प्रिंसिपल ने मामले की जांच के लिए एक कमेटी का गठन कर दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की बात कही है।

जानिए क्या है पूरा मामला

झांसी में शुक्रवार को स्कूल बस के पलटने से छह बच्चे और एक बस क्लीनर घायल हो गए थे। हादसे में बस क्लीनर घनश्याम का पैर कट गया था और स्टेचर पर लाते समय उसके कटे पैर को सिर के नीचे दख दिया गया था।

उत्तर प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री आशुतोष टंडन के निर्देश पर झांसी मेडिकल कॉलेज में एक युवक के कटे पैर के प्रति डॉक्टरों तथा नर्सों की लापरवाही की घटना को गंभीरता से लेते हुए दो चिकित्सकों सहित चार कर्मचारियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। इसके अलावा असिस्टेंट प्रोफेसर (ऑर्थोपेडिक्स) डॉक्टर प्रवीण सरावगी के खिलाफ भी विभागीय कार्रवाई के आदेश जारी कर दिए गए हैं।

कॉलेज प्रिंसिपल ने दिया मामले पर बयान

मेडिकल कॉलेज की प्रिंसिपल साधना कौशिक ने बताया हमने घटना के बाद डिपार्टमेंट के लोगों से बात की। इसके बाद सीनियर रेजिडेंट ऑर्थोपेडिक डॉक्टर ईएमओ सीनियर नर्स और एक अन्य स्टाफ को सस्पेंड कर दिया है।

इमरजेंसी वार्ड में डॉक्टरों ने जख्मी क्लीनर का फौरन इलाज शुरू कर दिया था। डॉक्टरों को उसका सिर ऊपर रखने के लिए कुछ चाहिए था। तभी मरीज के किसी साथी ने कटे पैर को उसके सिर के नीचे रख दिया। एक कमेटी जांच कर रही है, अगर डॉक्टर या स्टाफ की गलती सामने आई तो कड़ी कार्रवाई करेंगे।

loading...
शेयर करें