हिंसा की चपेट में जल रहा पुणे समेत पूरा राज्य, अंबेडकर के पोते ने किया महाराष्ट्र बंद का ऐलान

0

मुंबई। पुणे के नजदीक कोरेगांव में भड़की हिंसा थमने का नाम नही ले रही है। हिंसा के चलते आम जनता को काफी तकलीफों का सामना करना पड़ रहा है। मुंबई, पुणे समेत आस-पास के इलाकों में लोगों का ऑफिस जाना व बच्चों का स्कूल जाना मुश्किल हो गया है। हिंसा के चलते जहां एक तरफ मुंबई के ठाणे इलाके में प्रशासन ने 4 जनवरी तक धारा 144 लगा दी है, वहीं दूसरी तरफ अब इस मुद्दे में बाबासाहब भीमराव अंबेड़कर के पोते प्रकाश अंबेड़कर भी कूद पड़े हैं। 63 साल के भारिप नेता प्रकाश अंबेड़कर ने दलितों के हक के लिये आवाज उठाते हुए आज पूरे महाराष्ट्र बंद का ऐलान किया है।

प्रकाश अंबेडकर ने दिया बयान

प्रकाश अंबेड़कर ने इस हिंसा के लिये सीधे-सीधे तीन लोगों को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा कि मैं सम्बाजी बिड़े, मिलिंद एकगोटे और जिग्नेश को इस पूरी हिंसा के लिये दोषी मानता हूँ। ये तीनों यहां के स्थानीय नेता बताए जाते हैं। इसके अलावा महाराष्ट्र बंद को लेकर उन्होंने ने कहा कि इस बंद को 250 से भी अधिक दलित संगठनों का समर्थन प्राप्त है। बंद शांतिपूर्ण होगा, इसमें किसी भी प्रकार की हिंसा के लिये जगह नहीं होगी।

मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक बंद के चलते मुंबई-पुणे को जोड़ने वाले ईस्टर्न एक्सप्रेस हाइवे समेत राज्य की करीब 40 हजार बसें बंद रहेगीं। बंद के दौरान पूरे महाराष्ट्र में लोकल ट्रेनों समेत सभी स्कूल भी बंद रहेगें। बंद को देखते हुए मुंबई ट्रैफिक पुलिस ने लोगों से आल्टरनेटिव रुटस से जाने की अपील की है।

पुलिस ने लिया एक्शन

मामले को लेकर पुणे की पिंपरी पुलिस ने हिन्दू एकता अघाड़ी के मिलिंद एकबोते के साथ-साथ शिवराज प्रतिष्ठान के संभाजी भिड़े के खिलाफ लोगों को उकसाकर हिंसा भड़काने का केस दर्ज किया है। इसके अलावा पुलिस ने दो अन्य लोगों जिग्नेश मेवाड़ी और उमर खालिद के खिलाफ भड़ाकाऊ बयान देकर हिंसा फैलाने के जुर्म में मुकदमा दायर किया है।

हिंसा को लेकर राजनीति शुरु

भीमा-कोरेगांव की हिंसा से उठी आग की लपटों पर सभी राजनीतिक दलों ने अपनी रोटियां सेंकनी शुरु कर दी हैं।

राहुल गांधी ने किया ट्वीट

इस पूरे मामले को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर इस हिंसा के लिये भाजपा और आरएसएस को जम्मेदार ठहराया है। उन्होंने कहा कि सरकार के प्रति संवेदनशील नहीं है और उन्हें हमेशा समाज के सबसे निचले पायदान पर ही रखना चाहती है।

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ने विपक्ष पर साधा निशाना

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस ने इस पूरी घटना को एक राजनीतिक साजिश बताते हुए विपक्ष को इसके लिये जिम्मेदार ठहराया है। इसके साथ ही उन्होंने घटना पर दुख व्यक्त करते हुए दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करने का भी आश्वासन दिया।

मायावती ने बीजेपी-आरएसएस को बताया जिम्मेदार

वहीं, बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्षा मायावती ने घटना के लिये भाजपा, आरएसएस व अन्य जातिवादी ताकतों को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने सीधे-सीधे महाराष्ट्र की भाजपा सरकार को इस हिंसा के लिये दोषी ठहराया है।

loading...
शेयर करें