धूल और प्रदूषण के प्रकोप से आपकी रक्षा करेंगे ये घरेलू नुस्खें…

0

नई दिल्ली। इस समय भारत में वायु प्रदूषण को लेकर सभी सकते में हैै। इस बार दिल्ली एनसीआर में गर्मियों में भी हालत सबसे ज्यादा खराब है। वायु प्रदूषण से बचने के लिए डॉक्टर्स मास्क का उपयोग करने की सलाह देते है मगर इससे कितना अपने आप को बचा सकते है इस बात को लेकर डॉक्टर्स भी असमंजस में है। ऐसे में आयुर्वेद एक्सपर्ट के बताए हुए ये आसान उपचार अपनाकर आप खुद को और अपने परिवार को सुरक्षित रख सकते हैं…

प्रदुषण

नीम हा गुड़कारी
अगर समभाव हो तो हफ्ते में तीन-चार नीम की पत्तियां खा ले इससे रक्त शुद्ध होता है। नहाने के पानी में नीम के पत्ते को मिलाने से शारीर में जमे प्रदूषण हट जाते है।

तुलसी का पौधा लगाए
रोजाना 10-15 एमएल तुलसी का जूस पीने से सांस नली से पलूटेंट्स हटाता है। जो की रक्त संचार को बढ़ाता है। प्रदूषण को अवशोषित करने के लिए हर घर में तुलसी का पौधा होना चाहिए।

हल्दी
आयुर्वेद कंसल्टेंट डॉ लिप्सा शाह सलाह देती हैं, घी या शहद के साथ एक चम्मच हल्दी का पाउडर लें, ध्यान रखें ये काम खाली पेट करें।

रोजाना खाएं गाय का घी
रोजाना सुबह या सोते वक्त नाक के दोनों नथुनों में दो बूंद गाय का घी डालें जिससे हानिकारक तत्व आपके फेफड़ों में नहीं पहुंचेंगे। इससे लेड और मर्क्युरी जैसे तत्व आपके लिवर और किडनी में जमा नहीं होते।

भाप लेना भी जरूरी
गुनगुने पानी में यूकेलिप्टस के तेल की 5-10 बूंदें या पेपरमिंट डालें और इसकी भाप लें। रोजाना पांच मिनट के लिए दिन में दो बार ये प्रक्रिया अपनाएं।

अदरक हमेशा रखें साथ
अदरक से शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है और ये सांस से जुड़ी हुई समस्याओं में फायदेमंद होता है। जब आप ऐसी जगह पर होते हैं जहां प्रदूषण ज्यादा होता है तो अदरक साथ रखें। आप इसे सलाद के साथ कद्दूकस करके या चाय में डालकर भी ले सकते हैं, लेकिन ज्यादा अदरक न लें इसके साइड इफेक्ट हो सकते हैं।

 

loading...
शेयर करें