अरबी भाषा में खत लिखकर दुष्कर्म पीड़िता को दी जा रही धमकी, परिणाम बुरा होने की कही गई बात

0

देहरादून। उत्तराखंड में एक दुष्कर्म पीड़ित को अपना बयान वापस लेने के लिए लगातार धमकाया जा रहा है। इस बात के लिए युवती के घर पर धमकी भरे खत भेजे जा रहे है। पीड़ित युवती ने आरोप लगाया है कि यह खत मेन आरोपी की बहन उसके घर में फेक रही है।

इस मामले में पीड़िता ने आरोपित युवक और उसकी बहन के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। आपको बताते चले कि सिविल लाइन कोतवाली क्षेत्र के एक गांव निवासी नाबालिग लड़की से पिछले साल दुष्कर्म हुआ था। इस मामले में पुलिस ने रिजवान के खिलाफ दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कर उसे जेल भेज दिया था। कुछ दिन पहले वह जमानत पर बाहर आया है।

पीड़िता ने आरोप लगाया है कि रिजवान ने पीड़ित लड़की पर दबाव बनाने के लिए उसके घर पर धमकी भरे पत्र फेंके हैं। खत में उसके पक्ष में गवाही नहीं देने पर परिणाम भुगतने की धमकी दी गई है। कई धमकी भरे पत्र मिलने के बाद परिजनों ने इसकी शिकायत  अपर पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार से की थी। परिजनों की तहरीर पर सिविल लाइंस पुलिस ने रिजवान और उसकी बहन नूरजहां के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है।

यह सभी पत्र अरबी भाषा में लिखे गए हैं। पुलिस की जांच में सामने आया है कि रिजवान पढ़ा लिखा नहीं है। उसके लिए अरबी भाषा में यह पत्र लिखना संभव नहीं है। पुलिस के सामने अब यह बात बड़ी समस्या बनी हुई है। अब पुलिस इस मामले की काफी गंभीरता से जांच कर रही है।

loading...
शेयर करें