अभी-अभी : मीडिया के सामने आते ही रोने लगे प्रवीण तोगड़िया, बोले – मेरा एनकाउंटर करने की कोशिश हुई

0

अहमदाबाद। विश्व हिंदू परिषद (विहिप) के नेता प्रवीण तोगड़िया का सोमवार सुबह से लापता थे। जिसके बाद वह बेहोशी की हालत में अहमदाबाद के एक पार्क में मिले। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। मंगलवार को होश में आने के बाद मीडिया को संबोधित किया। इस दौरान तोगड़िया सोमवार की पूरी घटना को लेकर भावुक हो गए और उनकी आंखों में आंसू आ गए। उन्होंने कई बड़े आरोप लगाए हैं।

तोगड़िया ने आरोप लगाया, मेरा एनकाउंटर करने कोशिश की गई

तोगड़िया ने कहा कि मैं सालों से हिंदू एकता, राम मंदिर व अन्य मुद्दे उठाता रहा हूं लेकिन पिछले कुछ समय से लगातार मेरी आवाज दबाने का प्रयास होता रहा। तोगड़िया ने आरोप लगाया, मेरा एनकाउंटर करने कोशिश की गई। जब मुझे ये पता चला तो मेरे पास जो ज़ेड सिक्योरिटी है, मैं उसे बताकर एयरपोर्ट के निकल लिया। मैंने शॉल ओढ़ी हुई थी ताकि कोई मुझे पहचान न पाए। मुझे अस्पताल कौन लाया है, मैं नहीं जानता हूं। मैं हिंदू एकता के लिए जो कोशिशें कर रहा हूं, उसे दबाने की कोशिश की जा रही है।

देश के डेढ़ हजार डॉक्टरों को मैंने सेवा के लिए तैयार किए

तोगड़िया ने कहा कि वह कई बरसों से राम मंदिर बनाने, गोहत्या कानून बनाने, किसानों को लागत से डेढ़ गुना मूल्य दिलाने आदि के लिए आवाज उठा रहे हैं। उन्होंने कहा कि वह हिंदुओं की ओर से प्रमुखता से आवाज उठा रहे हैं इसलिए कुछ वक्त से उनकी आवाज दबाने को कोशिश की जा रही है। उन्होंने कहा, देश के डेढ़ हजार डॉक्टरों को मैंने सेवा के लिए तैयार किए। सेंट्रल आईबी ने उन्हें डराना शुरू किया। मैंने केंद्र को पत्र लिखा। सेंट्रल आईबी डराने का काम कर रही है।

एक पुराने केस में राजस्थान पुलिस तोगडिया की तलाश में थी

बता दें कि एक पुराने केस में राजस्थान पुलिस तोगडिया की तलाश में थी। यह केस राजस्थान के गंगापुर शहर में दर्ज हुआ था। इसमें तोगड़िया को कोर्ट के सामने पेश होना था, लेकिन उनकी पेशी नहीं हुई थी। इसके बाद कोर्ट ने तोगड़िया के खिलाफ गिरफ्तारी का वारंट जारी किया था। वहीं विहिप कार्यकर्ताओं में इस मामले को लेकर जमकर रोष दिखाई दे रहा है। उनका कहना था कि राजस्थान पुलिस सोमवार को प्रवीण तोगड़िया को विश्व हिंदू परिषद के दफ्तर से अपने साथ ले गई थी।

loading...
शेयर करें