गुजरात में कांग्रेस के लिए खड़ी हुई सबसे बड़ी मुसीबत, हार्दिक पटेल ने कर दी ये मांग

0

अहमदाबाद। गुजरात में विधानसभा चुनाव खत्म हो गए और बीजेपी की सरकार बन गई, लेकिन फिर भी राजनीति में घमासान जारी है। पहले बीजेपी के कई नेताओं की नाराज़गी की खबरें सामने आ रही थी, जिसके बाद बीजेपी उन्हें मनाने में कामयाब रही है। और अब कांग्रेस को लेकर बड़ी खबर आ रही है। गुजरात में नेता विपक्ष के चुनाव को लेकर कांग्रेस फंसती नजर आ रही है।

यह भी पढ़ें : पुणे हिंसा में आया चौंकाने वाला मोड़, सुरक्षा एजेंसियों ने किया हैरान करने वाला खुलासा

कांग्रेस को हार्दिक पटेल के विरोध का सामना करना पड़ सकता है

परेश धनानि को यह पद नहीं देने पर पार्टी को पाटीदार नेता हार्दिक पटेल के विरोध का सामना करना पड़ सकता है। माना जा रहा है की मतभेद टालने के लिए कांग्रेस दिल्ली से नेता विपक्ष के नाम की घोषणा करेगी। इसी बीच पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने धनानि को नेता विपक्ष बनाने का दबाव बनाना शुरू कर दिया है। सूरत में राजद्रोह मामले में अपनी पेशी के दौरान उसने चेताया है की धनानि को विपक्ष के नेता का पद नहीं दिया गया तो वह कांग्रेस का विरोध करेंगे।

इससे पहले गुजरात के मत्स्य पालन मंत्री पुरुषोत्तम सोलंकी नाराज थे

वहीं, इससे पहले गुजरात के मत्स्य पालन मंत्री एवं कोली के नाराज नेता पुरुषोत्तम सोलंकी ने कहा कि मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने उन्हें अगले कैबिनेट विस्तार में ‘बेहतर’ विभाग आवंटित करने का आश्वासन दिया है। एक संबंधित घटनाक्रम में एक अन्य भाजपा विधायक जेठा भारवाड़ के समर्थकों ने मांग की कि उन्हें राज्य सरकार में मंत्री बनाया जाना चाहिए। हालांकि बाद में विधायक ने स्पष्ट किया कि उन्होंने ऐसी कोई मांग नहीं की है। इससे पहले विभाग आवंटन से नाराज सोलंकी कल राज्य कैबिनेट की बैठक में शामिल नहीं हुए थे।

डिप्‍टी सीएम नितिन पटेल को मना लिया गया है

इसके पहले दिग्गज पाटीदार नेता और डिप्‍टी सीएम नितिन पटेल वित्त, शहरी विकास और पेट्रोकेमिकल विभाग छिन जाने से नाराज चल रहे थे। आखिरकार पार्टी अध्‍यक्ष अमित शाह ने उनको फोन किया और उनको वित्त विभाग देकर मना लिया गया। इससे पहले वित्त विभाग सौरभ पटेल को दिया गया था। लेकिन, राजनीतिक संकट के समाधान के लिए उनसे यह विभाग लेकर नितिन को दे दिया गया।

loading...
शेयर करें