UGC : अल्पसंख्यक स्टूडेंट्स को NET क्लियर करने पर मिलेगी मौलाना आजाद फेलोशिप

0

नई दिल्‍ली। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) ने सभी अल्पसंख्यक समुदाय के स्‍टूडेंट्स के लिए नई गाइडलाइंस जारी की है। इसमें कहा गया है कि जिन स्‍टूडेंट्स को उच्च शिक्षा हासिल करनी है और मौलाना आजाद नैशनल फेलोशिप चाहिए उनका नैशनल एलिजिबिलिटी टेस्ट (NET) पास करना जरुरी होगा। यानी कि अब से उन्‍हीं स्‍टूडेंट्स को फेलोशिप मिलेगी जिन्‍होंने NET क्‍लीयर किया होगा।

अल्पसंख्यक स्टूडेंट्स

UGC की संशोधित गाइडलाइंस के मुताबिक, अल्पसंख्यक समुदाय के स्टूडेंट्स का फेलोशिप में चयन सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन (CBSE) और काउंसिल ऑफ साइंटिफिक ऐंड इंडस्ट्रियल रिसर्च (CSIR) की तरफ से आयोजित NET में शामिल होने वाले अंको के आधार पर किया जाएगा।

आपको बता दें, कि स्कॉलरशिप के लिए संशोधित किया गया नया नियम सिर्फ उन स्टूडेंट्स पर लागू किया जाएगा जो इस साल से फेलोशिप के लिए अप्‍लाई करेंगे।

दरअसल, CBSE और CSIR की तरफ से हर साल अलग-अलग NET एग्‍जाम का आयोजन कराया जाता है। इसके जरिए जूनियर रिसर्च फेलोशिप के स्टूडेंट्स की पात्रता की जांच की जाती है। वहीं UGC की तरफ से जो NET एग्‍जाम का आयोजन होता है उसमें यूनिवर्सिटी कॉलेजों में टीचिंग पोजिशन के लिए योग्य स्टूडेंट्स को सिलेक्‍ट यानी चुनाव किया जाता है।

हालांकि अभी तक मौलाना आजाद नैशनल फेलोशिप हासिल करने के लिए इस तरह का कोई नियम नहीं था। न ही अल्पसंख्यक स्टूडेंट्स को CBSE-NET और CSIR-NET क्लियर करना जरुरी था।

loading...
शेयर करें