#UPInvestorsSummit : अंबानी-अडानी ने किए बड़े ऐलान, योगी बोले – अब आएंगे प्रदेश के ‘अच्छे दिन’

0

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में बुधवार से शुरू हुई इन्वेस्टर्स समिट का पीएम मोदी ने उद्घाटन दिया। इस बीच यहां देश और दुनिया से कई बड़े कारोबारी आए और सभी ने यूपी में निवेश करने को लेकर बड़े ऐलान किए। यूपी में इस से पहले कभी भी उद्योगपतियों का इतना बड़ा जमावड़ा नहीं हुआ है. यूपी सरकार का दावा है कि 900 से भी अधिक MoU पर दस्तखत किये जाएंगे. इस बहाने चार लाख करोड़ के निवेश होने की उम्मीद जताई जा रही है। वहीं, समिट को संबोधित करते हुए प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उप्र में पहली बार आयोजित हो रही इन्वेसटर्स समिट यहां निवेश के लिए इच्छुक उद्योगपतियों के लिए संभावनाओं के नए द्वार खोलने का काम करेगी। उन्होंने कहा, यूपी में जाग चुका है निवेशकों का भरोसा।

राज्य सरकार की तरफ से 4 लाख 28 हजार करोड़ का बजट प्रस्तुत किया था

उन्होंने साफ तौर पर कहा कि निवेशकों की चिंताओं को दूर करने के लिए प्रदेश सरकार ने पिछले 11 महीनों में काफी काम किया है। उन्होंने कहा कि उप्र सरकार ने पिछले 11 महीने में कई नीतियां बनाई हैं जिससे उद्योगपतियों को निवेश लायक माहौल मिल सके। उन्होंने कहा कि अभी पिछले दिनों ही राज्य सरकार की तरफ से 4 लाख 28 हजार करोड़ का बजट प्रस्तुत किया था।

चार लाख 28 हजार करोड़ रुपये के एमओयू पर हस्ताक्षर हुए हैं

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा, हमें यह बताते हुए प्रसन्नता हो रही है कि हमने जितने का बजट पेश किया था ठीक उतने ही यानी चार लाख 28 हजार करोड़ रुपये के एमओयू पर हस्ताक्षर हुए हैं। योगी ने कहा कि इस समिट में 125 कंपनियों ने हिस्सा लिया है और अभी तक 1045 एमओयू साइन हुए हैं। सरकार निवेशकों से यह कहना चाहती है कि उप्र सरकार हर एमओयू के क्रियान्वयन के लिए काम करेगी।

उप्र के 10 शहरों को स्मार्ट सिटी योजना में जगह मिली है

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सरकार ने उप्र में निवेश के लिए उप्र निवेश प्रोत्साहन बोर्ड का गठन किया है। इसका काफी लाभ मिला है। उप्र के 10 शहरों को स्मार्ट सिटी योजना में जगह मिली है। उप्र सरकार स्टार्ट अप को लेकर एक नई नीति बना चुकी है। इसमें आईआईटी कानपुर और बीएचयू को सहयोगी के तौर पर शामिल किया गया है। इससे उद्योगपतियों को काफी मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास है कि उप्र में अगले तीन वषरें के भीतर 40 लाख युवाओं को रोजगार मुहैया कराया जा सके।

पीएम मोदी ने भी किया समिट को संबोधित

पीएम नरेंद्र मोदी ने बुधवार को लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित यूपी इन्वेस्टर्स समिट को संबोधित किया। तमाम उद्यमियों की मौजूदगी में पीएम ने कहा कि जब परिवर्तन होता है तो वह प्रत्यक्ष रूप से दिखता है। पीएम ने कहा कि प्रदेश की सीएम योगी आदित्यनाथ की सरकार, यहां की ब्यूरोक्रेसी और यहां कि जनता को बधाई देता हूं कि वह इतने कम समय में प्रदेश को विकास के रास्ते पर ले जा सके हैं। पीएम ने कहा कि मुझे यह जानकर खुशी है कि उत्तर प्रदेश की अर्थव्यवस्था में सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योगों जिन्हें हम एमएसएमई के नाम से जानते हैं का बहुत बड़ा योगदान है।

अंबानी-अडानी समेत कई कारोबारियों ने किए बड़े ऐलान

  • इन्वेस्टर्स समिट में देशभर के नामी-गिरामी उद्योगपतियों ने यूपी में निवेश की घोषणा की। इस दौरान करीब 4.28 लाख करोड़ रुपये निवेश की घोषणा हुई।
  • सबसे पहले रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने 10 हजार करोड़ रुपये के निवेश का ऐलान किया।
  • अंबानी के बाद मंच पर आए देश के मशहूर और अमीर उद्योगपति में से एक अडानी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अडानी ने यूपी में 35 हजार करोड़ निवेश की घोषणा की।
  • बिड़ला ग्रुप के मालिक कुमार मंगलम बिड़ला ने यूपी में 25 हजार करोड़ रुपये के निवेश की घोषणा की।
  • महिन्द्रा एंड महिन्द्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिन्द्रा ने बनारस में 200 करोड़ से क्लब महिंद्रा प्रॉपर्टी विकसित करने की घोषणा की।
  • टाटा संस के चेयरमैन एन. चंद्रशेखरन ने कहा, ‘हम यूपी में 30 हजार क्षमता का सेंटर विकसित करेंगे।
  • एस्सेल ग्रुप के मालिक सुभाष चंद्रा ने कहा, पिछली सरकार में हमने 30 हजार करोड़ का MOU किया था लेकिन तीन साल में महज 3 हजार करोड़ का ही निवेश हो सका।

पीएम मोदी ने किए कई बड़े ऐलान

  • यूपी में उद्योगपतियों को नियत समय में ऑनलाइन कारोबार शुरू करने की परमिशन मिलेगी।
  • यूपी में उद्योगपतियों को नियत समय में ऑनलाइन कारोबार शुरू करने की परमिशन मिलेगी।
  • प्रधानमंत्री ने 5P का मंत्र भी दिया। उन्होंने कहा कि पोटेंशियल + पॉलिसी + प्लानिंग + परफॉर्मेंस से ही प्रोग्रेस आती है।
  • यूपी में सुपर परफॉर्मेंश देने के लिए योगी तैयार हैं, यहां के लोग तैयार हैं।
  • पूरे देश में स्मार्ट सिटी का सबसे ज्यादा स्कोप यूपी में है।
  • यूपी में करीब 50 लाख MSME है। MSME सेक्टर के जरिए यूपी दुनिया में पहचान कायम करेगा।
  • वन डिस्ट्रिक वन प्रोडक्ट योजना को केंद्र सरकार की सभी योजनाओं का लाभ मिलेगा. केंद्र सरकार मुद्रा लोन देगी।
  • यूपी आलू उत्पादन में नंबर वन है। पहले आलू के चिप्स घर-घर में बनते थे। अगर यही उद्योग स्थानीय स्तर पर शुरू हो तो कई हजार करोड़ रुपए का रोजगार शुरू हो सकता है।
  • देश में डिफेंस इंडस्ट्रियल कॉरिडोर बनेगा, जिसमें से एक यूपी में प्रस्तावित है।
  • यूपी में एयर ट्रैफिक में 30 फीसदी का ग्रोथ है।

loading...
शेयर करें