1 जनवरी से वर्चुअल आईडी हर जगह होगी अनिवार्य, ऐसे घर बैठे आसानी से करे डाउनलोड और यूज

0

नई दिल्ली। जो लोग बैंक व अन्य जगहों पर अपना नंबर देने से कतराते हैं उनके लिए भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) ने वर्चुअल आईडी का तोहफा भारतीय जनता को देते हुए बीटा वर्जन जारी कर दिया है। यूआईडीएआई ने अपने ऑफिसियल ट्विटर अकाउंट से इस बात कि जानकारी दी।

virtual_id

प्राधिकरण पहले ही कह चुका है कि सत्यापन के उद्देश्य से सेवा प्रदाताओं के लिए एक जून, 2018 से आधार नंबर के स्थान पर 16 अंकों वाली वर्चुअल आईडी को स्वीकार करना अनिवार्य होगा।

क्या है वर्चुअल आईडी
वर्चुअल आईडी दरअसल एक 16 अंको का कोड होगा जो आधार नंबर की जगह उपयोग किया जा सकेगा। इसके चलते सुविधाओं का लाभ लेने के लिए 12 अंकों वाला आधार नंबर देना अनिवार्य नहीं होगा। इसके बदले लोग वर्चुअल आईडी का इस्तेमाल कर सकेंगे। इससे लोगों की पहचान सुरक्षित रहेगी। अब अगर किसी को कहीं अपने आधार का विवरण देना है तो वह आधार की जगह वीआईडी नंबर दे सकता है

ऐसे हासिल करे 16 अंको का कोड
सबसे पहले आपको आधार की वेबसाइट https://uidai.gov.in/ पर जाना होगा। इसके बाद होम पेज पर नीचे की तरफ आधार सर्विस टैब के अंदर वीआईडी जेनरेटर ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। क्लिक करते ही रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर ओटीपी आयेगा। अब आपको उस ओटीपी को फीड करते ही वीआईडी जनरेट करने का विकल्प मिल जाएगा। जब यह जनरेट हो जाएगी तो आपके मोबाइल पर आपकी वर्चुअल आईडी भेज दी जाएगी। यानी 16 अंकों का नंबर आ जाएगा।

आपको बता दे कि आप वर्चुअल आईडी अनगिनत बार जनरेट कर सकते है। नया आईडी जनरेट होते ही पुराना बेकार हो जाएगा। इसकी खास बात ये होगी कि वर्चुअल आइडी की नकल नहीं की जा सकेगी।

loading...
शेयर करें