जानिए, पॉर्न मूवीज़ को क्यों कहा जाता है ब्लू फिल्म

0

बात करें पॉर्न वेबसाइट की तो सबसे ज्यादा ट्रैफिक भारत में आता है। एडल्ट मूवीज को इंडिया में ‘ब्लू फिल्म’ भी कहा जाता है लेकिन कभी आपने सोचा है कि ऐसा क्यों ? इसके पीछे कई सारी बाते हैं।  आइए जानते हैं-

पहला आता है लो टिंट- बात करे पहले के समय की तो पोर्न इंडस्ट्री का बजट बहुत कम हुआ करता था। इसलिए डायरेक्टर्स ने ब्लैक एंड व्हाइट रील को कलर्ड में तब्दील करने के लिए आसान और सस्ते तरीके अपनाए। इसी के चलते मूवी प्रिंट पर ब्लू टिंट नोटिस होते हैं और शायद इसी वजह से इन फिल्मों को ब्लू फिल्म्स कहते हैं।

अक्सर थिएटर्स में बी ग्रेड फिल्में दिखाई जाती है और वहां लगे पोस्टर भी ब्लू कलर के होते हैं। यह शायद इसलिए क्योंकि ब्लू कलर लोगों को ज्यादा आकर्षित करता है। इसीलिए शायद पोर्न मूवीज़ को ब्लू फिल्म भी कहते हैं।

या एक और कारण बताया जाता है कि आज से 50 से 60 साल पहले तक कई राज्यों में ‘ब्लू लॉ’ यानी ‘ब्लू कानून’ हुआ करता था। इसके मुताबिक रविवार के दिन कई बिजनेस ऑपरेट करने की परमिशन नहीं हुआ करती थी। इसी वजह से रविवार को ब्लू मूवीज भी नहीं दिखाई जाती थी।

शुरुआती दिनों में वीसीआर का ही ट्रेंड हुआ करता था। उस समय वीडियो स्टोर्स नॉर्मल वीसीआर कैसेट्स को सिंपल पॉलिथिन में दिया करते थे लेकिन पोर्न फिल्म्स के लिए ब्लू पॉलिथिन ही यूज की जाती थी। जिससे इन कलर्स के ज़रिए इन्हें आसानी से पहचाना जा सके।

 

loading...
शेयर करें