दहेज के लालचियों ने एक भाई से छीन ली उसकी बहन, इलाज के नाम पर दी मौत

0

गोरखपुर। दहेज़ के लोभियों ने एक और बहन को लालच की आग में झोंक दिया। घटना गोला थाना क्षेत्र के देवकली गांव की है। जहां एक विवाहिता की संदिग्ध अवस्था में हुई मौत के बाद उसके भाई ने बहन के ससुराल वालों पर उसकी हत्या का आरोप लगाया है। भाई का आरोप है कि ससुराल वाले उसकी बहन पर मायके से एक लाख रुपये लाने का दबाव बना रहे थे।

ससुरालियों के खिलाफ दहेज के लिए हत्या की तहरीर दी है

मृतक के मायके वालों ने गोला थाने में ससुरालियों के खिलाफ दहेज के लिए हत्या की तहरीर दी है। तहरीर में कहा गया है कि उरुवा थाना क्षेत्र के उरुवा बाजार निवासी लक्ष्मी पुत्री स्व. राजकुमार गुप्ता की शादी फरवरी 2015 में देवकली (गोपालपुर) के राकेश गुप्ता उर्फ़ पिंटू से हुई थी। मृतक के भाई सुरेन्द्र गुप्ता के मुताबिक, गुरुवार रात तीन बजे गांव के एक व्यक्ति ने फोन कर बताया कि लक्ष्मी की तबीयत बहुत खराब है। इस खबर को सुनने के बाद जब उन्होंने बहन के ससुराल में फोन किया तो ससुर ने बताया कि उसे इलाज के लिए गोरखपुर ले जा रहें हैं।

बहन से मिलने की बात कही तो ससुर ने फोन काट दिया

सुरेंद्र भी गोरखपुर के लिए निकल गया। रास्ते में फोन करने पर पता चला कि मृतक लक्ष्मी को लखनऊ ले जाया जा रहा है। जब उन्होंने बहन से मिलने की बात कही तो ससुर ने फोन काट दिया। उसके बाद सुबह उन्हें बताया गया कि केजीएमयू लखनऊ में डाक्टरों ने जवाब दे दिया है। इसके आधे घंटे बाद अयोध्या में दाह संस्कार की सूचना दे दी।

भाई ने पुलिस से इंसाफ की गुहार लगाई है

अपनी शिकायत में सुरेंद्र ने बताया कि एक लाख रुपये के लिए मेरी बहन को प्रताड़ित किया जाता रहा है। पिता की मौत के बाद के बाद ससुराल वालों से काफी विनती की थी कि वो लोग बहन को प्रताड़ित न करें। सुरेंद्र ने पुलिस से इंसाफ की गुहार लगायी है। इस मामले में थानाध्यक्ष प्रदीप शुक्ला का कहना है कि उन्होंने रिपोर्ट लिखने के बाद मामले की जांच शुरू कर दी है।

loading...
शेयर करें