दिग्गज कंपनी यारा ने खरीदा टाटा केमिकल्स का यूरिया कारोबार, जानें बेचने की रकम

0

नई दिल्ली। साल के शुरूआत के साथ ही दुनिया भर की दिग्गज कंपनियों ने बड़े बड़े 0दांव खेलने शुरू कर दिये है। कंपनियां साल के शुरूआत में ही कुछ बड़े कदम उठा रही है, जिससे साल के अंत तक कंपनियों को अच्छा मनाफा हाथ लगे। इन कदमों में कंपनियों की सझेदारी और खरीददारी शामिल है। इसी क्रम में दुनिया की प्रमुख खनिज उर्वरक आपूर्तिकर्ता यारा इंटरनेशनल एएसए (यारा) ने भी दिग्गज कंपनी टाटा केमिकल्स के यूरिया कारोबार को खरीदने की घोषणा की है।

यारा ने टाटा के साथ यह सौदा 2,682 करोड़ रुपये में किया है, जिसके तहत टाटा केमिकल्स अपने उत्तर प्रदेश के बबराला संयंत्र से जुड़ी सभी संपत्तियों और दायित्वों का हस्तांतरण यारा को करेगी। इस अधिग्रहण के बाद यारा के अध्यक्ष और मुख्य कार्यकारी अधिकारी सेविन टोर होलसेथेर ने बताया कि टाटा केमिकल्स के यूरिया कारोबार के अधिग्रहण से हमें दुनिया के दूसरे सबसे बड़े उर्वरक बाजार में अपने पदचिन्ह को मजबूत करने में मदद मिलेगी। भारतीय कृषि क्षेत्र में भारी क्षमता है, जिससे भारत के समग्र आर्थिक विकास को भी फायदा होगा।

इस साझेदारी के बाद यारा का क्या होगा फायदा

इस अधिग्रहण के साथ यारा को देश के उत्तरी क्षेत्र में विस्तार करने में मदद मिलेगी, जहां किसान 3.1 हेक्टेयर में अनाज उगाते हैं तथा 40 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में बागवानी करते हैं। यारा का भारत में कुल कारोबार फिलहाल चार करोड़ डॉलर का है। इस अधिग्रहण के बाद कंपनी का कारोबार बढ़कर 35 करोड़ डॉलर तक हो जाने की संभावना है। यारा के फसल पोषण विभाग के कार्यकारी उपाध्यक्ष तेरजे नतसेन ने कहा, “हमारा मानना है कि उर्वरकों के उपयोग में सुधार से भारत का कृषि क्षेत्र और अधिक उत्पादक बन सकता है। इससे किसानों की उपज में सुधार होने के साथ-साथ उनकी आय भी बढ़ेगी।

loading...
शेयर करें