यमुना एक्सप्रेसवे पर दो बड़े हादसे, तीन डॉक्टरों समेत पांच की मौत, 23 को पहुंचाया अस्पताल

0

नई दिल्ली। यमुना एक्सप्रेसवे मौत का एक्सप्रेसवे बनता जा रहा है, आए दिन एक न एक हादसे की खबर आ ही जाती है। रविवार को तड़के एक्सप्रेसवे पर दो बड़े हादसे हुए। एक हादसे में तीन डॉक्‍टरों की मौत हो गई और दूसरे में दो लोगों की मौत हो गई और चार बच्‍चों समेत 23 लोग घायल हो गए हैं।

यमुना एक्सप्रेसवे

पहला हादसा जहां गौतमबुद्धनगर के दनकौर के पास हुआ है, वहीं दूसरा हादसा मथुरा के पास हुआ। बताया जा रहा है कि एम्स हॉस्पिटल के डॉक्टरों की माइल स्टोन 88 के पास एक तेज रफ़्तार इनोवा कार कंटेनर से टकराई, जिसमें सवार एम्स के 3 डॉक्टरों की  मौके पर हुई मौत हो गई। इस हादसे में 4 गम्भीर रूप से घायल हैं। घायल डॉक्टरों को पुलिस ने दिल्ली एम्स अस्‍पताल में भर्ती कराया है। वहीं दूसरे हादसे में तेज रफ्तार बस यमुना एक्‍सप्रेस वे पर बने फेंसिंग तोड़कर कर हाईवे से नीचे गिर गई। इससे बस में सवार दो लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। इस हादसे में घायल 23 लोगों को पास के अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है। बस औरैया से नोएडा आ रही थी।

दोनों हादसे रविवार तड़के होने की जानकारी मिली है। हालांकि पुलिस के वक्त पर पहुंचने से राहत और बचाव कार्य जारी शुरु किया जा सका। जब से ये एक्सप्रेसवे चालू हुआ है तब से 2017 तक इस पर करीब 4076 हादसे हुए, जिसमें करीब 548 लोगों की मौत हुई है। ग्रेटर नोयडा से शुरू होकर यह एक्‍सप्रेस वे आगरा तक जाता है। इसमें कोई शक नहीं कि इस एक्‍सप्रेस वे के बन जाने से आगरा की दूरी बेहद कम हो गई है।

 

loading...
शेयर करें