टीम इंडिया के ऑलराउंडर युसूफ पठान पर आई मुसीबत, BCCI ने खेलने पर लगाया बैन

0

मुंबई। टीम इंडिया के दिग्गज खिलाड़ी युसूफ पठान को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने पांच महीनों के लिए सस्पेंड कर दिया है। उन्हें डोपिंग उल्लंघन के चलते सस्पेंड किया गया है। पठान पिछले साल हुए डोप टेस्ट में फेल हो गए हैं। बीसीसीआई ने कहा कि पठान को प्रतिबंधित पदार्थ के सेवन के लिए निलंबित किया गया है। यह पदार्थ आमतौर पर कफ सिरप (खांसी की दवा) में पाया जाता है

सस्पेंड के बावजूद यूसुफ पठान की सबसे बड़ी चिंता खत्म हो गई है

इस निलंबन के बावजूद यूसुफ पठान की सबसे बड़ी चिंता खत्म हो गई है। यूसुफ पठान का नाम अब इस महीने के आखिर में आईपीएल के लिए होने वाली नीलामी में शामिल किया जाएगा। रिपोर्ट के मुताबिक पिछले साल रणजी ट्रॉफी में बड़ौदा के लिए सिर्फ एक मैच खेलने वाले पठान ने ब्रोजीट नामक दवाई ली, जिसमें टरब्यूटलाइन पदार्थ मिला हुआ था। जहां टरब्यूटलाइन प्रतिबंधित पदार्थ है, वहीं कोई खिलाड़ी इसे तभी ले सकता है जब वह पहले से इसकी अनुमति ली।

एडीआरवी का आरोप लगाया गया था

इस मामले में पठान पर 27 अक्टूबर, 2017 को बीसीसीआई विरोधी डोपिंग नियम (एडीआर) अनुच्छेद 2.1 के तहत एक डोपिंग विरोधी नियम उल्लंघन (एडीआरवी) का आरोप लगाया गया था और अस्थायी रूप से निलंबित किया गया था। पठान ने डोपिंग रोधी नियम उल्लंघन की बात स्वीकार की और कहा कि उन्हें जो दवाई लिखी गई थी, उसके अलावा उन्हें कोई और दवाई दी गई, जिसमें ‘टब्र्यूटेलिन’ की मात्रा शामिल थी।

पठान ने क्या कहा

पठान ने हालांकि कहा कि उन्होंने जानबूझकर इस दवा का सेवन नहीं किया है और इसके सेवन का मकसद सिर्फ गले में जारी संक्रमण से छुटकारा पाना था, न कि अपने प्रदर्शन को सुधारना था। बीसीसीआई ने पठान के स्पष्टीकरण को माना और इस बात को समझा कि अपर रेस्पाइरेटरी ट्रेक्ट इन्फेक्शन (यूआरटीआई) के इलाज के लिए उन्हें गलती से ‘टब्र्यूटेलिन’ दिया गया। इस बात को मानते हुए बीसीसीआई ने पठान पर पांच माह का निलंबन लगाया है, जो 15 अगस्त, 2017 से लागू हुआ है और यह निलंबन 14 जनवरी, 2018 को समाप्त हो जाएगा।

loading...
शेयर करें