अंतरिक्ष में छोटी आकाश गंगा में ब्लैक होल का पता लगाया, इस ग्रह से बड़ा

वाशिंगटन: यह बात तो हम सभी जानते है हमारा ब्रह्मांड रहस्यों और अचरजों से भरा पड़ा है और जब बात आकाशगंगा और ब्लैक होल की आती है तो इस रहस्य की परतें और गहरा जाती हैं. इस तरह के विशाल ब्लैक होल तो काफी चमकते भी हैं. वैज्ञानिकों का दावा है कि ये विशाल ब्लैक होल हमारे सूर्य से 4,200 खरब गुना ज्यादा चमकीला है. वैज्ञानिक खुद भी इन आंकड़ों से हैरान है. उनका अनुमान है कि यह ब्लैक होल जरूर ब्रह्मांड की उत्पत्ति के दौरान बना होगा. जिसके कारण खगोलवेत्ता अभी भी इन्हें समझने का प्रयास कर रहे हैं.

इसी कड़ी में खगोलवेत्ताओं ने कुछ ऐसी छोटी आकाशगंगाओं की खोज की है, जो विशाल ब्लैक होल का घर है. इस शोध के नतीजों से अंतरिक्ष के इन क्षेत्रों में मजबूत गुरुत्वाकर्षण बल का पता लगाया जा सकता है. माना जा रहा है कि यह विशाल ब्लैक होल ब्रह्मांड के शुरुआती वर्षों में बना होगा. वैज्ञानिकों का कहना है कि मोंटाना यूनिवर्सिटी की शोधकर्ता एमी रींस ने बताया, ‘हमें उम्मीद है कि इन ब्लैक होल और उनकी आकाशगंगाओं का अध्ययन हमें इस निष्कर्ष पर पहुंचने में मदद करेंगे. जंहा इस बात का पता चला है फिर अरबों साल की अवधि के दौरान कैसे ये एक-दूसरे से मिले और सूर्य से करोड़ों या अरबों गुना बड़े विशालकाय ब्लैक होल का निर्माण हुआ, जिन्हें आज हम बड़ी आकाशगंगाओं में देखते हैं. ’

वहीं इस बात का पता चला है कि यह अध्ययन एस्ट्रोफिजिकल जर्नल में प्रकाशित हुआ है. अध्ययन के अनुसार, इस छोटी आकाशगंगा में 13 विशाल ब्लैक होल्स का पता चला है, जो सूरज की तुलना में चार लाख गुना बड़े हैं. इस बात पर भी गौर फ़रमाया गया है कि यह आकाशगंगा हमारी अपनी आकाशगंगा मिल्की वे से 100 गुना छोटी है.

Related Articles