OMG : एक छोटे से बच्चे की मौत पर ‘डायन का नाच’

0

जहानाबाद। अंधविश्वास के चलते कई बार ऐसा देखने में आया है की कई हंसते खेलते परिवार तबाह हो जाते हैं तो कई बेमौत मारे जाते हैं। ज्यादातर लोगों का यही कहना है कि पहले की अपेक्षा आजकल के लोग पुरानी मानसिकता को छोड़ अब नई मानसिकता के साथ कदम से कदम मिलाते हुए चल रहे हैं लेकिन आज के समय में भी कई ऐसे गांव हैं जहां के लोग अंधविश्वास में इस तरह जकड़े हुए हैं कि उन्हें इस से बाहर निकलने का कोई रास्ता ही नहीं नजर आता है।

आपको बताते दें की अंधविश्वास का एक ताजा मामला सामने आया है जो बिहार के जहानाबाद की है जहाँ छत से गिरने के बाद एक बच्चे की मौत हो गई। बच्चे की मौत के बाद लोगों ने इसका कारण भूत प्रेत का साया बताया उसके बाद उस मृत  बच्चे को लेकर एक महिला ओझा के पास गए। महिला ओझा ने कहा कि जिस जगह इस बच्चे  की मौत हुई है उसी जगह पर अनुष्ठान किया जाएगा तो मारने वाले का पता चलेगा फिर मन्त्रों के द्वारा उसे पकड़कर कैद कर लिया जाएगा।

अंधविश्वास

अंधविश्वास के आगे गाँव लोग आज भी मजबूर

महिला ओझा की बातों में आकर गांव वाले बच्चे के शव को फिर से अपने घर ले गए और उसके बाद महिला ओझा बच्चे के शव को सामने रख अनुष्ठान शुरु कर दिया। उसने दावा किया था कि मारने वाली डायन को इसी जगह नाचते हुए आना पड़ेगा। जिसे देखने के लिए लगभग उस गांव में हजारों की संख्या में लोग जुट गए। महिला ओझा ने लगभग कई घंटे तक ड्रामा किया गया लेकिन कुछ भी सामने नहीं आया।

वहीं इस तरह की बात की जानकारी जब नजदीकी थाने को मिली तो पुलिस अपने दल बल के साथ मौके पर पहुंची पुलिस भी महिला ओझा को कुछ कहने से डरने लगी। और लोगों के हुजूम के ही साथ खड़ा होकर उसका तमाशा देखने लगी। मौके पर पहुंची पुलिस का कहना है कि यह महिला ओझा भोले भाले गांव वालों को अपने जाल में फंसाकर ठगने का काम करती है। पुलिस द्वारा तब इस तरह की बात कही जा रही है जब सरकार ने डायन प्रथा को रोकने के लिए सख्त कानून बनाए हैं।

loading...
शेयर करें