अखिलेश पर योगी का बड़ा हमला, की गई थीं फर्जी नियुक्तियां, होगी सीबीआई जांच

0

लखनऊ। उत्‍तर प्रदेश के मुखिया योगी आदित्‍यनाथ ने अखिलेश सरकार में हुईं सरकारी भर्तियों पर नजरें टेढ़ी कर ली हैं। मंगलवार को सीएम ने सभी नियुक्तियों की सीबीआई जांच के आदेश दिए हैं। सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि इन भर्तियों में धांधली की गई है। सीएम योगी का आदेश 2012 से हुई नियुक्तियों पर लागू होगा।

अखिलेश सरकार में हुईं सरकारी भर्तियों

अखिलेश सरकार में हुईं सरकारी भर्तियों पर बीजेपी सरकार सख्‍त

सूबे के मुखिया ने नाराजगी व्‍यक्‍त करते हुए कहा कि सपा सरकार में हुई कोई भी नियुक्ति ऐसी नहीं थी, जिसमें धांधली न हुई हो। उन्होंने कहा कि पुलिस के डेढ़ लाख पद खाली हैं और नौजवान बेरोजगार घूम रहे हैं। योगी ने अखिलेश यादव सरकार को निशाने पर लेते हुए कहा कि पिछली सरकार की नीयत साफ न होने की वजह से हर भर्ती पर सवाल खड़े हुए हैं।

PCS अफसरों की हुईं फर्जी नियुक्तियां

सीएम योगी ने पीसीएस की नियुक्तियों को भी फर्जी करार दिया। उन्होंने कहा कि इस मामले की सीबीआई जांच होगी और जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

सीएम योगी की मुख्य बातें-

सीएम योगी ने कहा कि हमारी सरकार में शत प्रतिशत एफआईआर दर्ज हो रही हैं।

सीएम ने बताया कि आजमगढ़ घटना में आरोपी का नाम मुलायम यादव है, जिसे सपा सरकार में संरक्षण प्राप्त था।

रायबरेली वाली घटना में क्या ये सच नहीं है कि सपा के ही लोग है।

अपराधियो को संरक्षण देने वालों के खिलाफ भी बनेगा कानून।

पिछली सरकार का केंद्र के साथ कोई समन्वय नहीं था।

अब केंद्र की योजनाओं का प्रदेश को पूरा लाभ मिल रहा है।

और भी प्रोजेक्‍ट पर नजरें हुईं टेढ़ीं

यूपी की सत्‍ता पर काबिज होने के बाद से ही सीएम योगी आदित्यनाथ ने पिछली सरकार के दौरान हुए विकास कार्यों में धांधली को लेकर भी जांच बैठाई है। राजधानी लखनऊ के गोमती रिवर फ्रंट को लेकर भी जांच चल रही है।

loading...
शेयर करें