नरेंद्र मोदी के गौरक्षक वाले बयान पर भड़के अखिलेश

0

लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गोरक्षकों को लेकर दिए बयान के बाद सोमवार को मुख्यमंत्री अखिलेश यादव भाजपा पर निशाना साधा और कहा कि अब भाजपा विकास से ध्यान हटाने के लिए गोरक्षा का मुद्दा उठा रही है।  उन्होंने ये भी कहा कि जब उन्ही के लोग अब ये सवाल उठा रहे हैं तब जा कर के समझ में आया कि इससे देश का कितना नुकसान हुआ है।

अखिलेश यादव

अखिलेश यादव ने भाजपा पर साधा निशाना

कैबिनेट की बैठक करने के बाद पत्रकरों से हुई बातचीत में अखिलेश ने कहा, गाय की रक्षा तो होनी चाहिए लेकिन  उस पर राजनीति करना अच्छी बात नहीं है। हमारे यहां गाय पाली गयी है। हमसे बड़ा गोरक्षक कौन हो सकता है। उन्होंने ये भी कहा कि हम गाय की सेवा करने वाले लोग हैं। जरा आप बता दीजिये कि शहर में रहने वाले कितने भाजपा नेताओं के यहां गाय पाली जाती है?

उन्होंने ने भाजपा पर गोरक्षा जैसे मुद्दे उठाकर समाज में दूरियां बढ़ाने का आरोप लगाया। कहा, गोरक्षा के लिए भाजपा सांसद सहयोग नहीं कर रहे हैं। गोरक्षा के मामले में भाजपा को हर कोई जानता है। उनकी सरकार आने से पहले भी देश में गाय थी। हम गाय की सेवा करेंगे, लेकिन इसे देश की तरक्की से जोड़ा जाए।

अखिलेश ने कहा भाजपा इतने दिनों में क्या की है

अखिलेश यादव ने केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह द्वारा यूपी को प्रश्न प्रदेश बताए जाने पर भी उन्होंने खा कि बड़ी योजनाओं के जरिये हमने पूरे देश को पहले ही सारे जवाब दे दिए हैं। आगरा एक्सप्रेस-वे, मेट्रो जैसी परियोजना से गांव व शहरों के लोगों को काफी लाभ मिलेगा लेकिन अब भाजपा पुरे जनता को बताये कि आखिर उन्होंने इतने दिनों में देश के लिए क्या किया है? भाजपा और उसके सहयोगी दलों के 73 सांसद यूपी के लिए कुछ नहीं कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने अनुप्रिया पटेल को भी लिया निशाने पर

इन सांसदों को चाहिए कि प्रदेश को केंद्रीय सरकार की योजनाओं का बकाया पैसा दिलवाएं। हमने प्रदेश के सभी सांसदों को पत्र लिखकर एनएचएआई, बिजली परियोजनाओं, रक्षा मंत्रालय से जुड़े मुद्दों को संसद में उठाकर प्रदेश को मदद दिलाने का अनुरोध किया है। भाजपा नेताओं द्वारा केंद्र की मदद से मेट्रो बनने की बात कहे जाने पर मुख्यमंत्री ने कहा कि तो उन्हें यूपी को भारत से निकलवा देना चाहिए।केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल के आरक्षण संबंधी बयान पर मुख्यमंत्री ने कहा कि आरक्षण का सवाल काफी बड़ा है। सामाजिक और आर्थिक रूप से पिछड़े लोगों के लिए आरक्षण की व्यवस्था संविधान में है। लोगों को आरक्षण के साथ-साथ सम्मान भी मिलना चाहिए।

उन्होंने अनुप्रिया पटेल का नाम लिए बगैर कहा कि जो लोग इसकी समीक्षा की बात कह रहे हैं, उन्हें अपनी बात और साफ तरीके से रखनी चाहिए।दयाशंकर सिंह मामले पर मुख्यमंत्री ने कहा कि यह मुद्दा अब खत्म हो चुका है। मैं तो पहले ही कह चुका हूं कि रक्षाबंधन आ रहा है। भाजपा को बसपा से रिश्ते सुधार लेने चाहिए।

 

loading...
शेयर करें