अगर महिलाओं के ये अंग है बड़े तो समझो उनसे ज्यादा सौभाग्यशाली कोई नहीं

0

हमारे देश में स्त्री को लक्ष्मी का रूप माना जाता है। लेकिन अगर हम हिन्दू ग्रंथों की बात करें तो इनमें स्त्रियों को उनके अंगों के हिसाब से सौभाग्यशाली या धनवान की श्रेणी में रखा गया है। दरअसल, इन ग्रंथों में कुछ ऐसे अंगों का जिक्र किया गया है जिनका बड़ा होना स्त्रियों के सौभाग्यशालिता का उदाहरण है। आइये आपको भी हम बताते हैं कि वह कौन से अंग है जो महिलाओं शौभाग्यशालिता का परिचायक हैं।

लम्बे बाल

वैसे लम्बे बाल महिलाओं की खूबसूरती की निशानी होती है लेकिन ग्रंथों में यह सौभाग्यशाली महिलाओं की भी निशानी है। यही कारण है कि देवी की प्रतिमाओं में उनके लंबे बाल दिखाए जाते हैं। ग्रंथों में जिक्र है कि लम्बे बाल धनवान और भाग्यशाली महिलाओं का प्रतीक है।

बड़ी और गहरी नाभि

महिलाओं को भाग्यशाली और धनवान बनाने में उनकी नाभि का बड़ा होना काफी मायने रखता है। स्त्रियों में नाभि बड़ी, गहरी हो और दाएं ओर मुड़ी हो तो यह उनके लिए शुभ लक्षण माना गया है।

लम्बे और मजबूत पैर

वहीं जिन स्त्रियों की जंघा पुष्ट और मांसलयुक्त होती है वो भी सौभाग्यशाली होती है

बड़े ब्रेस्ट

बड़े वक्ष: स्त्रियों में बड़े वक्षों का होना सुख, सौभाग्य और धन संपदा की प्राप्ति का सूचक माना गया है।

लम्बे कान

महिलाओं के लंबे कान भी उन्हें भाग्यशाली और सौभाग्यशाली बनाते हैं। स्त्रियों के लंबे कान उनकी लंबी उम्र को दर्शाने के साथ ही उन्हें सुख और ऐश्वर्य भी दिलाते हैं।

लम्बे हाथ

जिन स्त्रियों के हाथ लंबे होते है वे सौभाग्य और समृद्धि प्राप्त करती है।

लम्बे हाथ

लम्बी गर्दन

स्त्रियों की गर्दन लंबी होना शुभ लक्षण माना गया है। लंबी गर्दन वाली स्त्रियां ऐश्वर्य को भोगने वाली होती है।

loading...
शेयर करें