लालू की बेटी ने कहा ‘फादर से पहले फादर इन लॉ’

0

रेवाड़ी। राजनीति में लालू-राबड़ी की बेटी अनुष्का यादव उनके साथ नहीं बल्कि अपने ससुर कैप्टन अजय सिंह यादव की पार्टी कांग्रेस के साथ हैं। हालांकि अनुष्का यादव अभी खुद राजनीति में सक्रिय नहीं हैं। अपने ससुर के चुनाव में वो डोर-टू-डोर प्रचार कर चुकी हैं। अब खबर यह है कि अनुष्का पर्दे के पीछे रहकर अपने पति चिरंजीव राव के साथ अपने ससुर कैप्टन अजय सिंह यादव का राजनीतिक प्रबंधन संभालने लगी हैं।

अनुष्का यादव24 अप्रैल, 2012 को कैप्टन के बेटे चिरंजीव राव का विवाह आरजेडी चीफ लालू प्रसाद यादव की बेटी अनुष्का से हुआ था। संकोची स्वभाव की अनुष्का अब खुलकर अपनी बात रखने लगी हैं। पिता की पार्टी को बिहार में मिली अपार सफलता से अनुष्का भी खुश हैं। हिन्दी अखबार दैनिक जागरण से बातचीत में उन्होंने माना कि अब वो अपने पति के साथ मिलकर अपने ससुर का राजनीतिक प्रबंधन देख रही हैं।

अनुष्का ने कहा कि अपने परिवार में काम तो करना ही पड़ता है। पापा (कैप्टन यादव) जब राजनीति में हैं तो कुछ न कुछ तो काम में हाथ बंटाना ही पड़ता है। उन्होंने कहा कि वो खुद चुनावी राजनीति से दूर हैं। चुनाव में तो पूरा परिवार जुटता है। परिवार जब सक्रिय हैं तो मैं कहां दूर रहूंगी।

अनुष्का यादव ने कहा लालू यादव मेरे आदर्श हैं

एक और सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि पालिटिक्स में मेरा नजरिया स्पष्ट है। फादर से पहले फादर इन ला। (पिता लालू प्रसाद यादव से पहले कैप्टन अजय सिंह यादव)। मैं इस घर की बहू हूं। बेटी जैसा प्यार मिला है। इसी परिवार के लिए समर्पित रहूंगी। इसका आशय यह कतई नहीं है कि मैं अपने पिता को नहीं चाहती। मैं अपने पिता (लालू यादव) का दिल से सम्मान करती हूं। उन्होंने गरीबों के लिए बहुत काम किया है। वो मेरे आदर्श हैं।

उन्होंने कहा कि देखिए उनकी (लालू प्रसाद यादव) सोच विकास की है। दलित, पिछड़ा व कमजोर वर्ग को लालू ने ही संघर्ष करना सिखाया है। पिछड़ा प्रदेश का दुष्प्रचार भी खूब हुआ। सकारात्मक बातों की अनदेखी व नकारात्मक का प्रचार करने में विरोधी कामयाब रहे थे, लेकिन अब लोग समझ चुके हैं। नीतीश कुमार के साथ बिना टकराव नए बिहार का निर्माण होगा। शराब व नशाखोरी के खिलाफ बिहार जागरूक होगा।

loading...
शेयर करें