जिस मुल्क में बंदूकों और धमाकों की आवाजें हैं आम, वह अब बन रही क्रिकेट जगत की नई ताकत

0

नई दिल्ली| अफगानिस्तान का नाम जहन में आते ही एक ऐसे देश की छवि बनती है, जहां आतंकवाद का बोलबाला है लेकिन पिछले एक-दो वर्षो से अफगानिस्तान ने क्रिकेट जगत में एक ऐसे देश के रूप में पहचान बनाई है जो भविष्य में क्रिकेट की महाशक्ति बनने का माद्दा रखता है।

अफगानिस्तान

अफगानिस्तान के कप्तान ने की अपनी टीम की तारीफ़

इसकी झलक पिछले साल भारत की मेजबानी में हुए टी-20 विश्व कप में देखने को मिली थी, जब अफगानिस्तान ने 27 मार्च, 2016 को वेस्टइंडीज के खिलाफ 123 रनों का छोटा सा लक्ष्य बचा कर छह विकेट से जीत हासिल की थी।

इसके बाद अफगानिस्तान को लोगों ने पहचाना। यहां अफगान क्रिकेट ने आए दिन नई सफलता हासिल की और हाल ही में जिम्बाब्वे तथा आयरलैंड की टीमों को मात दी। उसने क्रिकेट में पिछले कुछ दिनों में जो सुधार किया उसकी बानगी इस बात से भी मिलती है कि दुनिया की सबसे चर्चित क्रिकेट लीग इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में अफगानिस्तान के दो खिलाड़ी फ्रेंचाइजियों को अपनी तरफ आकर्षित करने में कामयाब रहे।

लेग स्पिनर राशिद खान और हरनफनमौला खिलाड़ी मोहम्मद नबी को सनराइजर्स हैदराबाद ने अपनी टीम में शामिल किया। एक छोटे से मुल्क जहां बंदूकों और धमाकों की आवाजें आम हो वहां से क्रिकेट की दुनिया का सफर तय करना और लगातार अपने स्तर को आगे ले जाना आसान नहीं होता।

नबी अपने देश के क्रिकेट के क्षेत्र में बढ़े हुए स्तर की वजह अफगानिस्तान के खिलाड़ियों की प्रतिभा को मानते हैं। उन्होंने कहा कि हमारे लड़कों में काफी प्रतिभा है। जितने भी खिलाड़ी हैं सभी प्रतिभाशाली हैं। नबी क्रिकेट में अफगानिस्तान के बढ़ते रुतबे का श्रेय अपनी टीम के पुराने खिलाडियों और देश के क्रिकेट बोर्ड को भी देते हैं।

वह कहते हैं कि अफगानिस्तान की क्रिकेट आगे आई है उसमें हमारे पुराने खिलाड़ियों का भी हाथ है। उनका समर्थन हमें हमेशा से मिला है। जब आपके पास प्रतिभा हो और बोर्ड का समर्थन हो तो इसका फायदा होता है।

किसी भी देश में एक खेल को आगे ले जाने के लिए जरूरी है कि जमीनी स्तर पर उसे भरपूर समर्थन और बढ़ावा मिले और साथ ही खिलाड़ियों को मौके मिलें। नबी अफगान क्रिकेट की मौजूदा स्थिति का श्रेय घरेलू क्रिकेट को भी देते हैं। उनका कहना है कि देश में साल भर टूर्नामेंट्स होते रहते और यह भी टीम के बढ़ते स्तर का एक कारण है।

नबी ने कहा कि अफगानिस्तान का घरेलू क्रिकेट काफी अच्छे से चल रहा है। काफी मैच होते हैं। टी-20, एकदिवसीय, दो दिवसीय, तीन दिवसीय, चार दिवसीय सभी प्रारूप में मैच होते हैं। लीग भी होती हैं। उन्होंने कहा कि वहां पेशेवर तरीके से क्रिकेट खेली जा रही है। इतने टूर्नामेंट साल भर में होते हैं तो खिलाड़ी को मौका मिलता है। खिलाड़ी पूरे साल भर क्रिकेट खेलने में व्यस्त रहते हैं।

नबी ने 2009 में स्कॉटलैंड के खिलाफ एकदिवसीय में पदार्पण किया था। तब से वह अफगानिस्तान की टीम का हिस्सा हैं। उन्होंने अपने घर के पास में क्रिकेट खेलना शुरू किया था और फिर खेल के प्रति बढ़ते लगाव ने उन्हें राष्ट्रीय टीम में जगह दिलाई।

अपने क्रिकेट के सफर पर नबी कहते हैं, “घर के पास में क्रिकेट खेला करते थे, वहीं से क्रिकेट को चाहने लगे और फिर स्कूल में भी क्रिकेट खेलना शुरू किया। फिर वहां से क्लब क्रिकेट खेली इसी बीच अफगानिस्तान की टीम के लिए ट्रायल हुआ, मैंने ट्रायल दिया और राष्ट्रीय टीम में मेरा चयन हो गया। तब से अफगानिस्तान के लिए क्रिकेट खेल रहा हूं।

अफगानिस्तान की नजरें अब टेस्ट टीम का दर्जा पाने पर हैं। जिस तरह से यह टीम आगे बढ़ी है उसे देखकर यह कहा जा सकता है कि इसी राह पर अगर यह टीम चलती रही तो यह भविष्य में एक अच्छी टीम के रूप में गिनी जा सकती है।

loading...
शेयर करें

Warning: mysqli_query(): (HY000/3): Error writing file '/tmp/MYpX7LjE' (Errcode: 28 - No space left on device) in /home/purid6/public_html/wp-includes/wp-db.php on line 1924

WordPress database error: [Error writing file '/tmp/MYpX7LjE' (Errcode: 28 - No space left on device)]
SELECT SQL_CALC_FOUND_ROWS wp_posts.ID FROM wp_posts LEFT JOIN wp_term_relationships ON (wp_posts.ID = wp_term_relationships.object_id) WHERE 1=1 AND wp_posts.ID NOT IN (222797) AND ( wp_term_relationships.term_taxonomy_id IN (10,16) ) AND wp_posts.post_type = 'post' AND ((wp_posts.post_status = 'publish')) GROUP BY wp_posts.ID ORDER BY wp_posts.post_date DESC LIMIT 0, 3