नमक के बाद अफवाह की आग में जले खेत

0

बागेश्वर।  नोटबंदी से देश में अफरा-तफरी मची हुई है। वहीँ देश के कुछ हिस्सों में नमक के लेकर अफवाह फ़ैल गई थी। जिसके बाद लोगों ने 400 से लेकर 500 रुपये किलो तक नमक ख़रीदा।  अब एक बार फिर उत्तराखंड में एक अफवाह ने भांग की खेती नष्ट कर दी।

अफवाह

अफवाह के बाद लोगों ने अपने भांग के खेतों में लगाई आग 

दरअसल मामला उत्तराखंड के बागेश्वर जनपद के कठपुड़ियाछीना क्षेत्र की है।  यहां अफवाह फैली कि देश में भांग की खेती करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। इसके लिए केंद्र सरकार व उत्तराखंड सरकार ने संयुक्त टीम गठित कर दी है। जो कि जीपीएस के माध्यम से खेतों को सर्च कर रही है।

यह भी अफवाह जोरों में चली कि जहां खेती होती दिखी है, वहां छापा मारने के लिए टीम रवाना की गई है। यह खबर क्षेत्र में आग की तरह फैल गई। इस अफवाह फैलने के बाद तो बस लोगों ने देखते रैखोली, पाना, असों, नायल, कठानी, बोहाला, रीठागाड़ व खरई में ग्रामीण अपने पारिवारिक सदस्यों के साथ खेतों में पहुंच गए तथा उन्होंने खेतों में उगाई भांग की पौध को जलाकर नष्ट कर दिया।

यह खबर आग की तरह फैलती गई।  जिसे जब पता चला लोग अपने खेतों में पहुंचे और उन्हें जला दिया।  महिलाएं व पुरुष रात्रि में भी खेतों में जाकर भांग की फसल को नष्ट करते रहे। पहाड़ में भांग उत्पाद से रस्सी व औषधीय चीजें बनाई जाती हैं। नशे के रूप में प्रयुक्त होने वाले पदार्थ भी कुछ लोग चोरी छिपे बनाते हैं।

 

loading...
शेयर करें