अब बलात्कारियों को मिलेगी फांसी की सजा, कानून में संशोधन की प्रक्रिया शुरु

नई दिल्ली। सरकार ने अब बलात्कारियों पर शिकंजा कसने की तैयारी शुरु कर दी है। पिछले कई दिनों से देशभर में उन्नाव-कठुआ रेप केस को लेकर गुस्से व चिंता का माहौल है। जनता की भावनाओं को समझते हुए केंद्र सरकार कानून में संशोधन की प्रक्रिया शुरु कर रही है। केंद्र सरकार का कहना है कि 12 साल तक के बच्चों के साथ बलात्कार करने वालों को फांसी की सजा देने का प्रावधान बनाया जा रहा है।

POCSO ऐक्ट में किया जाएगा बदलाव
सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में एक जनहित याचिका पर सुनवाई के दौरान इस बात पर जोर दिया कि मासूम बच्चों के साथ रेप करने वालों को फांसी दी जानी चाहिए। मामले को लेकर सरकार द्वारा कोर्ट को एक पत्र लिखा गया है। इसमें कहा गया है कि सरकार पॉस्को ऐक्ट में संशोधन करने जा रही है। जिसके तहत देश में 12 साल तक की उम्र वाले बच्चों के साथ रेप करने वाले व्यक्ति को फांसी की सजा दी जाएगी। कोर्ट द्वारा मामले की सुनवाई की अगली तारीख 27 अप्रैल निर्धारित की गई है।

काफी समय से लोग बच्चों से बलात्कार के मामले में फांसी की सजा की मांग कर रहे हैं। लेकिन हाल में जम्मू एवं कश्मीर के कठुआ में नाबालिग बच्ची के साथ हुए गैंगरेप के बाद यह मांग फिर से तेजी से बढ़ गई।

Related Articles