अब महीने में ऑनलाइन सिर्फ छह रेल टिकट बुक करा सकेंगे आप

0

रेल टिकट की ऑनलाइन बुकिंग में दलालों की भूमिका खत्‍म करने की तैयारी कर ली गई है। रेलवे ने तय किया है कि अब एक महीने में एक आईडी से सिर्फ छह टिकट बुक किए जा सकेंगे। 15 फरवरी से इस फैसले को लागू कर दिया जाएगा। इसके बाद से दलालों के लिए ऑनलाइन बुकिंग आसान नहीं रहेगी। हालांकि यह नया नियम तत्‍काल टिकट पर लागू नहीं होगा। यानी कि अगर आपको तत्‍काल टिकट ऑनलाइन बुक कराने हैं तो आप छह से अधिक टिकट एक महीने में बुक करा सकते हैं। अब तक दलाल एक ही आईडी से कई रेल टिकट बुक कराकर मोटा माल कमाते हैं। लेकिन रेलवे के नए नियम से दलालों के लिए कई मुश्किलें खड़ी हाे जाएंगी।

रेल टिकट

रेल टिकट प्रणाली में बदलाव

दरअसल, रेलवे ने पिछले ही साल से अपनी पूरी टिकटिंग प्रणाली में बदलाव लाने के संकेत दिए थे। रेल मंत्रालय की ओर से कहा गया था कि साल 2016 से टिकटिंग प्रणाली में व्‍यापक बदलाव किए जाएंगे। रेलवे ने ऑनलाइन रेल टिकट के साथ ही जनरल टिकट के मामले में भी कई बदलाव किए हैं।

अब जनरल रेल टिकट पर यात्रियों को टिकट जारी होने के समय से तीन घंटे के भीतर अपनी यात्रा शुरू करनी होगी। रेलवे ने अनरिजर्व्ड टिकट पर दिनभर यात्रा करने की चालबाजी को रोकने का यह हल ढूंढा है। इसके तहत अनरिजर्व्ड टिकट डेस्टिनेशन के लिए पहली ट्रेन छूटने तक या टिकट जारी होने के तीन घंटे तक ही वैध रहेंगे। इन टिकटों को अब समयसीमा के साथ जारी किया जाएगा। जनरल टिकट का मिसयूज बढ़ने के कारण रेलवे ने यह फैसला लिया है।

इसके साथ ही अब अगर आप 199 किलोमीटर तक यात्रा करते हैं, तो आपको अप-डाउन रेल टिकट एक साथ नहीं दिया जाएगा। दरअसल यात्री अप-डाउन टिकट लेकर पूरे दिन यात्रा का फायदा उठाते रहते हैं। इसे रोकने के लिए रेलवे ने यह कदम उठाया है।

loading...
शेयर करें