अमरनाथ की यात्रा शुरू, पहला दल हुआ जम्मू से रवाना

0

श्रीनगर। अमरनाथ की यात्रा का पहला दल शुक्रवार को जम्मू से रवाना हो गया। इस दल में 1,138 तीर्थयात्री हैं। यह यात्रा शनिवार से शुरू हो रही है। जम्मू एवं कश्मीर के उपमुख्यमंत्री निर्मल सिंह, मंत्री प्रिया सेठी और लोकसभा सांसद जुगल किशोर ने शुक्रवार को सुबह पांच बजे जम्मू के भगवती नगर यात्री निवास से तीर्थयात्रियों के पहले जत्थे को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।अमरनाथ की यात्रा

अमरनाथ की यात्रा में पहले दल में शामिल हुए 1138 तीर्थयात्री

पहले जत्थे में 900 पुरुष, 225 महिलाएं, 13 बच्चे शामिल हैं। इन्हें सुरक्षबलों की सुरक्षा के बीच 13 बसों, 24 मिनी बसों और अन्य वाहनों में रवाना किया गया। इस साल अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा राज्य और केंद्रीय सुरक्षा एजेंसियों के लिए बड़ी सुरक्षा एवं खुफिया चुनौती है।

गृह मंत्री राजनाथ सिंह करेगे सुरक्षा की जांच

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह शुक्रवार को दो दिवसीय यात्रा पर जम्मू पहुंचेंगे। वह यहां सुरक्षा व्यस्था की समीक्षा करेंगे। राजनाथ शनिवार को पवित्र अमरनाथ गुफा भी जाएंगे। सूत्रों का कहना है कि गुफा में पारंपरिक पूजा में भी हिस्सा लेंगे।

गौरतलब है कि शनिवार से शुरू हो रही यह 48 दिवसीय यात्रा 18 अगस्त को समाप्त होगी, जिस दिन श्रावण मास की पूर्णिमा और रक्षा बंधन है।

सरकार के लिए शांतिपूर्ण यात्रा सबसे कठिन चुनौती

इस साल सुरक्षाकर्मियों पर आतंकवादियों द्वारा किए जा रहे लगातार हमलों को देखते हुए हिमालय की गुफा के लिए होनेवाली सालाना अमरनाथ यात्रा को करवाना मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती की जम्मू एवं कश्मीर की सरकार के लिए सबसे बड़ी चुनौती बन गई है।

जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर बेजबेहरा शहर के नजदीक तीन जून को आतंकवादियों द्वारा किए गए गुरिल्ला हमले में सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के तीन जवान शहीद हो गए थे और 11 अन्य घायल हुए थे। इसी राजमार्ग पर पंपोर शहर के नजदीक 25 जून को किए गए दूसरे हमले में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के आठ जवान शहीद हो गए, जबकि 22 अन्य घायल हो गए।

 

loading...
शेयर करें