सीएम अमरिंदर सिंह ने लिंग जांच करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के दिए आदेश

0

चंडीगढ़| पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने बुधवार को राज्य में अवैध तरीके से लिंग जांच करने वाले केंद्रों के खिलाफ कार्रवाई का आदेश दिया है। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने एक दिन पहले ही ट्वीट कर अमरिंदर से इस तरह के केंद्रों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का आग्रह किया था।

अमरिंदर सिंह के एक प्रवक्ता ने कहा, “हरियाणा के मुख्यमंत्री द्वारा अवैध तरीके से लिंग की जांच करने वाले केंद्रों को लेकर व्यक्त की गई चिंता को गंभीरता से लेते हुए.. अमरिंदर सिंह ने राज्य में अवैध रूप से लिंग की जांच करने वाले सभी केंद्रों के खिलाफ कार्रवाई का आदेश दिया है।”

अमरिंदर सिंह

अमरिंदर सिंह ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से किया आगाह

प्रवक्ता ने आगे कहा, “अवैध तरीके से लिंग की जांच करने वाले केंद्रों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के खट्टर के आग्रह पर त्वरित कार्यवाही करते हुए अमरिंदर सिंह ने स्वास्थ्य विभाग को इस तरह के सभी केंद्रों के खिलाफ तत्काल और सख्त कार्रवाई करने का आदेश दिया है।”

उल्लेखनीय है कि हरियाणा और पंजाब देश के सबसे कम लिंगानुपात वाले राज्य से हैं। दोनों ही राज्यों में प्रति 1,000 पुरुषों पर महिलाओं की संख्या 900 से कम है। हाल के वर्षो में हरियाणा सरकार ने इन अवैध लिंग जांच केंद्रों पर रोकथाम लगाने के लिए श्रृंखलाबद्ध कदम उठाए हैं।

यहां तक कि हरियाणा के स्वास्थ्य विभाग और पुलिस विभाग ने पड़ोसी राज्यों – पंजाब, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, दिल्ली और उत्तराखंड – में अवैध लिंग जांच केंद्रों पर छापेमारी की। हरियाणा के मुख्यमंत्री खट्टर ने हाल ही में घोषणा की थी कि हरियाणा में जन्म के समय लिंगानुपात 857 से बढ़कर 938 हो गया है।

अमरिंदर सिंह ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को आगाह किया है कि इस दिशा में किसी भी तरह की कोताही को अपराध में सहभागिता के तौर पर लिया जाएगा। साथ ही उन्होंने चेतावनी भी दी है कि इस तरह के अवैध लिंग जांच केंद्रों के खिलाफ कार्रवाई करने में लापरवाही बरतने का दोषी पाए जाने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने पुलिस विभाग को भी इस तरह के अवैध केंद्रों पर अचानक छापा मारने में स्वास्थ्य विभाग को सहयोग देने का निर्देश दिया है।

loading...
शेयर करें