अमर दुबे की पत्नी को मिलेगी रिहाई, पुलिस कोर्ट में देगी बेगुनाही के सुबूत

कानपुर। बिकरू गांव में हुए एनकाउंटर के बाद पुलिस ने मुठभेड़ में मारे गए बदमाश अमर दुबे की पत्नी खुशी को जेल भेज दिया था। खुशी की शादी वारदात के दो दिन पहले ही हुई थी, ऐसे में साजिश रचने की भूमिका उसकी है, ये बात गले नहीं उतर रही थी। जिसके बाद पुलिस ने उसे जेल से छुड़ाने के लिए 169 की कार्रवाई की है। एक दो दिन में ख़ुशी जेल से रिहा हो जाएगी। बता दें बिकरू गांव में दो जुलाई की रात दहशतगर्द विकास दुबे ने आठ पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने मामले में नवविवाहिता खुशी दुबे को भी जेल भेजा था। उसका पति अमर दुबे हमीरपुर में मुठभेड़ में मारा जा चुका है। खुशी की शादी 29 जून को हुई थी। ठीक दो दिन बाद वारदात हुई। पुलिस ने बगैर जांच और साक्ष्यों के उसको साजिश रचने के आरोप में जेल भेज दिया था।

आरोप था, कि उसने हमले के दौरान हमलावरों को उकसाया था। पुलिस की इस कार्रवाई की आलोचना शुरू हो गई थी। एसएसपी दिनेश कुमार पी ने बताया। कि गलत सूचना पर जल्दबाजी में सबकुछ हुआ। विकास के स्वजन ने उसका नाम लिया था। मामला संज्ञान में आने के बाद जांच कराने पर खुशी की कोई संलिप्तता नहीं मिली है। धारा 169 की अर्जी बुद्धवार को पुलिस अदालत में दायर करेगी। सोमवार को सभी कार्रवाई पूरी कर ली गई है।

Related Articles

Back to top button