पनामा पेपर्स मामले में अमि‍ताभ ने बोला था झूठ, हुआ सबसे बड़े सच का खुलासा !

1

नई दिल्ली पनामा पेपर्स मामले में बॉलीवुड महानायक अमिताभ बच्चन की मुश्किलें थमने का नाम नहीं ले रही हैं। इस मामले में अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस ने फिर एक बड़ा खुलासा किया है। इस अखबार ने अमिताभ के दावे को गलत बताया है। इंडियन एक्सप्रेस ने नए दस्तावेज जारी किए है जिनके मुताबिक अमिताभ दो कंपिनयों के डायरेक्टर थे और फोन के जरिए बोर्ड मीटिंग में मौजूद रहते थे। इस दस्तावेज के मुताबिक बिग बी ट्रैंप शिपिंग लिमिटेड और सी बल्क शिपिंग कंपनी के डायरेक्टर थे और 12 दिसंबर 1994 को टेलीफोन कॉन्फ्रेंस के जरिए मीटिंग में हिस्सा लिया था। अगर इस दस्तावेजों की मानें तो ये साफ है कि अमिताभ झूठ बोल रहे थे। इससे पहले बिग बी ने कहा था कि वह इन कंपनियों को जानते भी नहीं हैं।

यह भी पढ़ें : राहुल ने पुलिस के सामने कबूला सारा सच, पूछताछ में किए गए ये छह सवाल

अमिताभ बच्चन

अमिताभ बच्चन ने क्या कहा था

इंडियन एक्सप्रेस में छपी खबर का हवाला देते हुए अमिताभ ने कहा था कि जिस मामले का जिक्र अखबार ने किया है, वो मामला पिछले 7-8 सालों से आयकर विभाग और प्रवर्तन निदेशालय के पास लंबित है। इससे पहले पनामा पेपर लीक मामले में अमिताभ ने कहा था कि जिन कंपनियों का जिक्र किया है मैं उनमें से किसी को नहीं जानता हूं। बिग बी ने कहा था कि मैं कहना चाहता हूं कि लेख में मुझसे जुड़े एक मामले को उठाया गया है जिस पर आयकर और प्रवर्तन विभाग पिछले छह-सात साल से जांच कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मैंने उनके भेजे सवालों और नोटिसों के गंभीरता से जवाब दिये। मैं देश के कानून का पाबंद नागरिक हूं। अमिताभ ने पनामा में एक कंपनी में शामिल होने की बात से इनकार किया था।

क्या था पूरा मामला

पनामा पेपर लीक होने के बाद बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन और उनकी बहू ऐश्वर्या राय बच्चन पर एक बड़ा आरोप लगा था। कहा जा रहा था कि इन दोनों ने अपनी संपत्ति छिपाने में टैक्स हैवन की मदद ली थी। इन दस्तावेजों में 500 से ज्यादा भारतीयों के नाम हैं। जिसमें सुपरस्टार अमिताभ बच्चन, अभिनेत्री ऐश्वर्या राय बच्चन, डीएलएफ के प्रमोटर के पी सिंह, उद्योगपति गौतम अदाणी के भाई विनोद अदाणी। ये वो नाम हैं जो उस सीक्रेट लिस्ट में शामिल हैं। ऐश्वर्या को पहले एक कंपनी का डायरेक्टर नियुक्त किया गया था, बाद में उन्हें कंपनी का शेयर होल्डर घोषि‍त कर दिया गया। ऐश्वर्या राय की मीडिया सलाहकार अर्चना सदानंद ने प्रतिक्रिया में कहा था कि यह आइसीआइजे क्या है? यह क्या करता है? क्या यह आधिकारिक संस्था है? हम कैसे मान लें कि इसकी दी जानकारी सही है? आपके पास जो भी जानकारी है, वह सरासर झूठ और फर्जी है।

loading...
शेयर करें