अमिताभ व नूतन ठाकुर को जान से मारने की सुपारी!

0

amitabh-thakur-with-wife-650_650x400_51436971513लखनऊ। सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह पर धमकी देने का आरोप लगा चर्चा में आए चर्चित आईपीएस अमिताभ ठाकुर अपने बागी तेवरों से सरकार के लिए मुसीबत का सबब बन चुके हैं। निलंबित आईपीएस और उनकी पत्नी डा. नूतन ठाकुर को जान से मारने के लिए सुपारी देने का मामला एक बार फिर सामने आया है। इस से पूर्व इस सम्बन्ध में पूर्वांचल व पश्चिम के बाहुबलियों का नाम चर्चा में आया था। मामले की गम्भीरता को देखते हुए पत्नी नूतन ठाकुर ने प्रदेश पुलिस के मुखिया को पत्र लिखकर जानकारी दी है।

नूतन ठाकुर ने पत्रकारों को बताया कि मेरे और मेरे पति के सम्बन्ध में गाजियाबाद के एक परिचित ने वहां के एक व्यक्ति द्वारा सुपारी दिए जाने की सूचना हमें दी है और इस सम्बन्ध में कुछ विवरण हमें व्हाट्सएप पर भेजा है।

उन्होंने कहा कि उन्हें उपलब्ध कराये गए विवरण के अनुसार जिस व्यक्ति को यह काम सौंपा गया है उसे अच्छा-ख़ासा राजनैतिक संरक्षण है और यह व्यक्ति कतिपय कारणों से हमसे व्यक्तिगत नाराजगी रखता है। उन्होंने कहा कि उन्हें बताया गया है कि उस व्यक्ति ने हाल में गाजियाबाद में एक नगर निगम पार्षद के सम्बन्ध में भी सुपारी दी थी जिसका भेद खुल गया था और पुलिस ने कई लोगों को गिरफ्तार किया था। अब उसके द्वारा अमिताभ ठाकुर औऱ नूतन ठाकुर की सुपारी देने की बात सुनी गयी है।

इन सभी तथ्यों से डीजीपी जगमोहन यादव और प्रमुख सचिव गृह देबाशीष पांडा को ईमेल पर अवगत कराते हुए कहा गया है कि मुलायम सिंह धमकी कांड के बाद से हमारा खतरा काफी बढ़ गया है और हमारी कोई भी सुरक्षा व्यवस्था नहीं है। अतः इन तथ्यों की तत्काल जाँच कराते हुए आवश्यक कार्यवाही की जाये।

इससे पहले मीडिया में आयी खबर में कहा गया था कि अमिताभ व नूतन ठाकुर को सबक सिखाने की कोशिशें तेज हो गई हैं। और इस काम के लिए पूर्वांचल एवं पश्चिम के बाहूबलियों को सुपारी दे दी गई है। सुपारी देने के साथ ही साथ उन्हें इस बात की भी हिदायत दी गई है कि सांप भी मर जाए और लाठी भी ना टूटे। सूत्र बताते हैं कि बाहूबलि ठाकुर दंपत्ति पर सीधे अटैक करने की मुद्रा में नहीं हैं बल्कि इसके लिए वह मध्य प्रदेश में व्यापम मामले की तर्ज पर हो रही हत्याओं की तकनीकी का सहारा लेंगे।

एक निजी चैनल के वरिष्ठ पत्रकार सुरेश गांधी ने अपनी फेसबुक वॉल पर लिखा था कि आईपीएस अमिताभ ठाकुर एवं उनकी पत्नी नूतन ठाकुर की हत्या का ताना-बाना बुना जाने लगा है। सूत्रों पर भरोसा करे तो इसकी जिम्मेदारी सत्ता के बेहद करीबी बाहुबली विधायक को सौंपी गयी है।

खतरे की आशंका को ध्यान में रखकर ठाकुर दंपत्ति ने उस समय भी राष्ट्रपति, राष्ट्रीय मानवाधिकार, प्रधानमंत्री व गृहमंत्री से न सिर्फ सुरक्षा की गुहार लगाई थी बल्कि इस मामले की जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से कराने की मांग भी की थी। इससे पूर्व अमिताभ अपने परिवार की सुरक्षा को लेकर चिंता जता चुके हैं।

loading...
शेयर करें