अमित शाह ने ममता से पूछा, कोलकाता में तख्तापलट क्यों होगा

0

नई दिल्ली| भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह ने ‘राज्य सरकार को बिना बताए’ प्रदेश में दो टोल प्लाजा पर सेना की तैनाती के बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के ‘तख्ता पलट की आशंका’ के दावों की मंगलवार को खिल्ली उड़ाई। राज्य में टोल प्लाजा पर सेना की तैनाती के विरोध स्वरूप तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष ममता बनर्जी ने गुरुवार रात सचिवालय में ही बिताई थी। उनका कहना था कि सेना की तैनाती बिना किसी पूर्व सूचना के की गई।

अमित शाह

अमित शाह बोले, देश की राजधानी दिल्ली है तो कोलकाता में तख्तापलट क्यों होगा

केंद्र सरकार तथा सेना दोनों ने आरोपों को बकवास करार दिया। सेना ने बाद में वह दस्तावेज जारी किया, जिससे साबित हुआ कि सैन्य अभियास के बारे में राज्य सरकार तथा पुलिस दोनों को सूचना दी गई थी।

शाह ने कहा, “सेना की तैनाती नियमित अभ्यास का हिस्सा है और यह पूरे देश में हो रहा है। यह अभ्यास अन्य राज्यों में भी हुआ है, लेकिन कोई समस्या नहीं हुई।”

यहां ‘एजेंडा आजतक’ कार्यक्रम में शाह ने कहा, “लेकिन बंगाल में बहुत ड्रामा हुआ।”

ममता बनर्जी के ‘तख्ता पलट की आशंका’ के दावे की ओर इशारा करते हुए शाह ने कहा कि कोलकाता में तख्तापलट का प्रयास क्यों होगा।

उन्होंने चुटकी लेते हुए कहा, “जब देश की राजधानी दिल्ली है, फिर तख्तापलट कोलकाता में क्यों होगा।”

ममता के अलावा, शाह ने बहुजन समाज पार्टी (बसपा) प्रमुख मायावती तथा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की भी खिल्ली उड़ाई।

उन्होंने कहा, “देश भर में लोग खासकर आम आदमी ने नोटबंदी का समर्थन किया है। जिनके पास काला धन है, केवल उन्हीं को परेशानी हो रही है।”

करोड़ों रुपये के चिटफंड शारदा घोटाला तथा स्टिंग मामले को लेकर शाह ने ममता बनर्जी पर हमला बोला। स्टिंग ऑपरेशन में तृणमूल के नेता रिश्वत लेते पकड़े गए थे।

मायावती को आड़े हाथ लेते हुए शाह ने कहा, “ऐसा लगता है कि वित्तीय आपातकाल केवल उन्हीं के लिए है। यह देश के लिए नहीं है।”

शाह ने जोर दिया कि नोटबंदी पर भाजपा को समर्थन मिला है और उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में पार्टी सत्ता में आएगी।

loading...
शेयर करें