अमेजॉन पर तिरंगे वाले डोरमैट बिकने को लेकर पीएम मोदी थे काफी नाराज

0

नई दिल्‍ली। ई-कॉमर्स वेबसाइट अमेजॉन पर तिरंगे वाले डोरमैट बिकने का मामला सामने आ चुका है। इस मुद्दे पर केंद्र की मोदी सरकार ने कड़ा रुख अपनाया था। अब इस मामले को लेकर एक नया खुलासा हुआ है, कुछ दस्तावेजों से पता लगा है कि किस प्रकार मोदी सरकार इस मुद्दे को लेकर काफी सख्त हो गई थी।

अमेजॉन पर तिरंगे वाले डोरमैट बिकने का मामला काफी गंभीर था

दस्तावेज से पता चला कि भारत सरकार ने अमेरिकी कंपनी के खिलाफ निजी और सार्वजनिक तौर पर विरोध दर्ज किया था। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने भी ट्विटर पर कड़ा रुख अपनाते हुए अमेजॉन को फटकार लगाई थी, और प्रोडक्ट ना हटाने की स्थिति में उसके कर्मचारियों का वीज़ा बैन करने को कहा था।

अंग्रेजी न्‍यूज एजेंसी ने किया था खुलासा

रॉयटर्स के हवाले से पता चलता है कि भारत सरकार ने इस मुद्दे को लेकर अमेरिका और कनाडा में भारतीय दूतावास को अमेजॉन के सामने इस मुद्दे को सख्त रूप से उठाने का निर्देश दिया था, जिसके बाद यह मुद्दा अमेजॉन के सीईओ जेफ बेजोस तक पहुंचा था।

तीन साल की सजा का प्रावधान

भारत में व्यापार की अधिक संभावनाओं के कारण अमेजॉन ने 5 बिलियन डॉलर का निवेश किया है। इसके बाद अमेजॉन ने भारत के राष्ट्रीय-ध्वज और उसके प्रतीकों से जुड़ें भारतीय कानूनों को अपनी वैश्विक कार्यशैली का हिस्सा बना लिया है। राष्ट्रीय ध्वज का अपमान करने पर तीन साल की सजा होने का प्रावधान है।

मांगी थी माफी

जब यह तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी, उसके बाद विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने अमेजॉन को कड़ी फटकार लगाई थी। हालांकि बाद में अमेजॉन इंडिया के उपाध्यक्ष अमित अग्रवाल ने भारत सरकार को चिट्ठी लिखकर माफी मांगी थी।

loading...
शेयर करें